WWW Kya HaiWWW Kya Hai

WWW Kya Hai इसकी विशेषता यह कैसे काम करता है?: WWW का फुल फॉर्म वर्ल्ड वाइड वेब है यह एक डाक्यूमेंट्स का समूह होता है जो आपस में एक दूसरे से Hypertext के द्वारा जुड़े होते हैं Hypertext डॉक्यूमेंट में टैक्स इमेज ध्वनि आदि सभी का समावेश होता है। WWW यह एक इंटरनेट की सेवा प्रदान करने वाली विधि है। Tim Berners Lee ने 1989 में CERN प्रयोग किया था।

सामाजिक रूप से वर्ल्ड वाइड वेब में सूचनाओं को वेबसाइट के रूप में रखा जाता है। यह वेबसाइट वेब सर्वर पर हाइपरटेक्स्ट फाइलों के रूप में संग्रहित होती है। यह वर्ल्ड वाइड वेब एक प्रकार की प्रणाली है। जिसके द्वारा प्रत्येक वेबसाइट को एक विशेष पहचान दिया जाता है उसी नाम से उसे वेब पर जाना भी जाता है।(WWW Kya Hai)

WWW क्या है (WWW Kya Hai)

WWW का फुल फॉर्म वर्ल्ड वाइड वेब (world wide web) होता है। इंटरनेट और वर्ल्ड वाइड वेब में बहुत ही गहरा संबंध होता है जो एक दूसरे पर निर्भर है। वर्ल्ड वाइड वेब जानकारी को भंडारण करता है। जो हमें लिंक के रूप में प्राप्त होता है। यह एक प्रकार की तकनीक है जिसके कारण पूरे संसार में कंप्यूटर एक दूसरे से जुड़े होते हैं। WWW,HTML,HTTP, वेब सर्वर और वेब ब्राउज़र पर काम करता है।

WWW Kya Hai

किसी वेबसाइट के नाम को उसका URL (uniform resource locator) भी कहा जाता हैं। जब हम किसी वेबसाइट को चालू करते हैं। ब्राउज़र प्रोग्राम के पत्ते वाले बॉक्स या एड्रेस के बारे में उसका नाम या यूआरएल भर देता है। इसी नाम की सहायता से ब्राउज़र प्रोग्राम उसे सर्वर तक पहुंचता है जहां पर वह फाइल या वेबसाइट स्टोर की गई है,और उसे एक वेब पेज प्राप्त करने के बाद हमारे कंप्यूटर पर ला देता है।{WWW Kya Hai}

उस सूचना को ब्राउज़र प्रोग्राम मॉनिटर की स्क्रीन पर प्रदर्शित कर देता है उस वेबसाइट पर कई हाइपरलिंक भी हो सकते हैं। हर हाइपरलिंक किसी अन्य वेब पेज वेबसाइट का यूआरएल होता है, अगर हम उसे लिंक पर क्लिक करते हैं तो ब्राउज़र इस पेज या वेबसाइट तक पहुंच कर उपयोगकर्ता को वह चीज उपलब्ध करा देता है। इस तरह से हम WWW के माध्यम से किसी भी वेबसाइट को देख सकते हैं जिसका यूआरएल या नाम हमें पता हो तो।

वर्ल्ड वाइड वेब एक प्रकार की डॉक्यूमेंट का समूह है जिसमें हाइपरटेक्स्ट डॉक्यूमेंट इमेज साउंड और भी बहुत सारी डाटा को सम्मोहित किया जाता है और इसे किसी वेबसाइट या एप्लीकेशंस के माध्यम से एक निश्चित नाम के द्वारा सभी यूजर को प्रदान किया जाता है।

वर्ल्ड वाइड वेब की विशेषताएं ( feature of World wide Web)

  • hypertext information system
  • cross platform
  • distributed
  • open standards and open source
  • web browser ,provides a single interface to many services
  • dynamic, interactive Evolving
  • graphical interface

Hypertext Information System:– वेब पेज के डॉक्यूमेंट में विभिन्न घटक होते हैं जैसे कि Texts, graphics, object ,sound या सभी आपस में एक दूसरे से जुड़े हुए होते हैं। इन सभी घटकों को आपस में जोड़ने के लिए Hypertext का उपयोग किया जाता है।

Distributed:- WWW मैं वेबसाइट को एक दूसरे से जोड़ने होते हैं, सभी वेबसाइट में अलग-अलग इनफॉरमेशन मौजूद होती है, बहुत सी वेबसाइट ऐसी होती है जो एक दूसरे से जुड़ी होती है। यूजर एक वेबसाइट खोलकर उसे दूसरे वेबसाइट से जुड़ सकता है यह कार्य प्रणाली को Distributed system हम कहां करते हैं।

Cross Platform:- Cross Platform का मतलब यह होता है कि वेब पेज या वेबसाइट किसी भी कंप्यूटर हार्डवेयर या ऑपरेटिंग सिस्टम पर कार्य कर सकता है।

Graphical Interface:- वर्तमान में सभी तरह की वेबसाइट में टैक्स के अलावा वीडियो साउंड और भी चीज है समाहित होती है। Hyperlink , की सुविधा से इनफॉरमेशन को हम आसानी से देख सकते हैं या वेब पेज से जुड़ सकते हैं। Dynamic Webside , में Menu ,Command Button , सभी का उसे किया जाता है इससे कार्य को बहुत ही सरल तरीके से कर सकते हैं।(WWW Kya Hai)

वर्ल्ड वाइड वेब की कार्यप्रणाली (functions of World wide Web)

  • HTML (hypertext markup language) एक प्रकार की अभिन्न भाषा है। HTML hypertext link प्रदान करता है जो किसी यूज़र को वेबसाइट से जुड़े हुए वेब पेज को एक्सेस करने में मदद करता है।
  • www client server model पर Based होता है। जिससे क्लाइंट साइड पर Remote Machine पर क्लाइंट सॉफ्टवेयर (वेब ब्राउज़र) कार्य करता है।
  • Client के द्वारा वेब ब्राउज़र के एड्रेस बार में यूआरएल ऐड्रेस टाइप किया जाता है।

URL किसी भी फाइल का एड्रेस होता है जो मुख्यतः तीन भागों में होते हैं।

  • Protocol
  • Domain Name
  • Path

वर्ल्ड वाइड वेब से आप क्या समझते हैं?

वर्ल्ड वाइड वेब एक बहुत ही विश्वसनीय और सुरक्षित इंटरनेट प्रोटोकॉल है जो इंटरनेट की दुनिया भर की सभी वेबसाइट और वेब पेज को अपने पास संग्रहित करता है यह प्रोटोकॉल वेब ब्राउज़र का प्रयोग करते हुए वेबसाइटों तक पहुंचने में मदद करता है।(WWW Kya Hai)

वर्ल्ड वाइड वेब के प्रयोग क्या है?

  • इंटरनेट पर सर्च करने के लिए WWW उपयोग किया जाता है।
  • पेशेवर लोग अपने काम के अनुसार वेब पेज पर WWW की Help से जुड़ सकते है।
  • WWW का उपयोग करने के लिए संचार स्थापित करना जरूरी होता है
  • छात्र ऑनलाइन कोई नई जानकारी सीखने के लिए वर्ल्ड वाइड वेब का उपयोग कर सकते हैं।
  • लोग इंटरटेनमेंट के लिए वर्ल्ड वाइड वेब का उपयोग करते हैं।
  • व्यापार अपने उत्पादों और सेवाओं को बढ़ाने के लिए वर्ल्ड वाइड वेब का उपयोग करता है।
  • इन सभी के अलावा कई क्षेत्रों में वर्ल्ड वाइड वेब का व्यापक रूप से उपयोग किया जाता है।

History of World Wide Web वर्ल्ड वाइड वेब का इतिहास(WWW Kya Hai)

वर्ल्ड वाइड वेब का आविष्कार से पहले इंटरनेट का प्रयोग करना बहुत ही कठिन होता था इस पर उपलब्ध सूचनाओं को खोजने तथा इसको प्रयोग में लाना और भी मुश्किल होता था। इंटरनेट पर उपलब्ध फाइलों को ढूंढना तथा उसे डाउनलोड करने के लिए यूनिक्स स्किल तथा विशिष्ट टूल की आवश्यकता जरूर पड़ती थी।

टीम बर्नर ली (Tim Berners Lee)को वर्ल्ड वाइड वेब( father of World wide Web) का पिता कहा जाता हैBerners European Organisation For Nuclear Research Switzerland में कार्य कर रहे थे। वे इंटरनेट के प्रयोग करने की जटिल विधि से बहुत ही ज्यादा निराश हो चुके थे। तथा उन्हें हमेशा आसानी से प्रयोग किए जाने वाले इंटरफेस प्रोग्राम का आवश्यकता का एहसास होता था,ताकि इंटरनेट पर उपलब्ध सूचनाओं को आसानी से एकत्रित किया जा सके

CERN मैं उनके कार्य के लिए हमेशा इंटरनेट की जरूरत पड़ती थी। इंटरनेट का प्रयोग हुआ शोध तथा अपने शुद्ध करता मित्रों के साथ संपर्क करने में करते थे। उन्हें इंटरनेट के उपयोग किए जाने में आने वाली कठिनाइयां ने इस बात के लिए उनके अंदर एक-एक प्रकार की प्रणाली का विकास करने के लिए प्रेरित किया जो उनके काम को आसानी से कर सके।

सन 1989 में। उन्होंने वर्ल्ड वाइड वेब के विकास के लिए सारण के इलेक्ट्रॉनिक एंड कंप्यूटिंग फॉर फिजिक्स विभाग को एक प्रस्ताव दिया लेकिन इस प्रथा को बहुत अधिक स्वीकृति नहीं दी गई। फिर उन्होंने दोबारा अपने मित्र रोबोट के लिए के साथ प्रस्ताव की अशुभ अस्वीकृति के कारण रोपड़ विचार करने के बाद जमा किया,तब जाकर उन्हें इस प्रस्ताव पर मंजूरी मिल गया। और वर्ल्ड वाइड वेब के प्रयोग का आधिकारिक तौर पर शुरुआत किया वेब के लिए उपयुक्त धन भी प्रदान किया गया। 1991 में इसके बारे में इंटरनेट प्रयोग करता हूं को सूचना मिली फिर भी शायद ही लोगों ने सोचा होगा कि अब इंटरनेट इतना ज्यादा आसान हो जाएगा।

फरवरी 1993 में नेशनल सेंटर का सुपर कंप्यूटिंग एप्लीकेशंस ने मुझे का पहला संस्करण विंडो के लिए बाजार में उपलब्ध कराया यह वर्ल्ड वाइड वेब के लिए एक वरदान साबित हुआ। जिसने वेब को सफलता के शिखर तक पहुंचा दिया।

अब यह यूजर फ्रेंडली हो चुका था। इसमें एक यूजर फ्रेंडली ग्राफिकल यूजर इंटरफेस का उपयोग किया गया जिसने उसे समय इंटरनेट की प्रयोग को इंटरनेट के प्रयोग की कठिनाइयों को मुक्त कराया। इसके अतिरिक्त मोजैक को माउस के द्वारा भी संचालित किया जा सकता था। अब प्रतियोगिता वगैरा कीबोर्ड के भी इंटरनेट का आनंद ले सकते थे क्योंकि इंटरनेट के क्षेत्र में एक बहुत ही अद्भुत विकसित हुई थी जो वेब आफ केवल हाइपरटेक्स्ट नहीं था।

वर्ल्ड वाइड वेब के आविष्कार होने के बाद प्रतियोगिता को इंटरनेट के विभिन्न संसाधनों को एक्सेस करने के लिए विभिन्न टोल की जरूरत नहीं थी तथा वर्ल्ड वाइड वेब को हाइपरमीडिया भी नाम दिया गया क्योंकि यह प्रोटोकॉल परस्पर संयोजित टैक्स वीडियो साउंड तथा ग्राफिक एक साथ सूचना की इकाई के रूप में प्रदान करते थे। वेब एक बेसिक प्रणाली बन गया। जिसे दुनिया भर में कहीं से भी अब एक्सेस किया जा सकता है।

मोजैक के इस अविष्कार से वेब में सफलता के आकाश को छूने लगा 1994 में मुझे के पहले संस्करण के रिलीज के बाद वेब ने नेशनल साइंस फाउंडेशन बैकबोन पर जेफर से ज्यादा ट्रैफिक बन गया था।

WWW क्या है हिन्दी में

वर्ल्ड वाइड वेब एक प्रकार की डॉक्यूमेंट का समूह है जिसमें हाइपरटेक्स्ट डॉक्यूमेंट इमेज साउंड और भी बहुत सारी डाटा को सम्मोहित किया जाता है और इसे किसी वेबसाइट या एप्लीकेशंस के माध्यम से एक निश्चित नाम के द्वारा सभी यूजर को प्रदान किया जाता है।

NOTE For READS :WWW Kya HaiWWW Kya HaiWWW Kya HaiWWW Kya HaiWWW Kya HaiWWW Kya HaiWWW Kya Hai

Leave a Reply