इस आर्टिकल में Moral Story In Hindi For Class 10 के लिए के लिखा गया है जो की बहुत ही मनोरंजन के साथ-साथ शिक्षाप्रद कहानी है।

अगर आप इस आर्टिकल में लिखी गई Moral Story In Hindi For Class 10 को पढ़ते हैं तो आपको जरूर ही समझ में आ जाएगा की कहानी हमारे लिए कितनी महत्वपूर्ण होती है और यह हमारे जीवन पर क्या प्रभाव डालती है।

Short Moral Story In Hindi For Class 10

जादू की पुस्तक

बच्चों के लिए एक छुट्टी के मौके पर, एक छोटे से गाँव में, एक लड़का नामक विक्रम रहता था। वह बहुत ही जिज्ञासु और सर्वश्रेष्ठ कहानी सुनने के शौकीन थे। अपने दादी-नानी के पास जाते समय वह हमेशा कुछ नई और रोमांचक कहानियों की तलाश में रहता था।

Moral Story In Hindi For Class 10
जादू की पुस्तक Moral Story In Hindi For Class 10

एक दिन, विक्रम अपनी दादी-नानी के घर पर एक नई बड़ी पुस्तक देखता है। पुस्तक का आकर्षण विक्रम को लुभाता है, और वह उसके पास जाता है। वह देखता है कि पुस्तक का नाम “जादू की पुस्तक” है।

विक्रम दादी-नानी से पूछता है, “यह पुस्तक क्या है, दादी-नानी?”

उनकी दादी कहती है, “बेटा, यह पुस्तक बहुत ही खास है। इसमें जादू के सिखने के लिए कई प्रकार के तरीके और कहानियाँ हैं। यह तुम्हें जादू सिखने का मौका देती है।”

विक्रम को बहुत खुशी होती है और वह तुरंत पुस्तक को पढ़ने लगता है। पुस्तक में अद्भुत कहानियाँ और जादू के सिखने के बारे में बहुत कुछ होता है।

विक्रम पुस्तक से जादू सिखता है और वह जादू करने में माहिर हो जाता है। वह अपने दोस्तों को बड़े चौंकाने वाले जादू के प्रदर्शन करता है और सबको हेरान कर देता है।

इस Moral Story In Hindi For Class 10 कहानी से हमें यह सिखने को मिलता है कि जिज्ञासा और शिक्षा हमें कुछ नया सिखने का मौका देते हैं और हमें अपनी क्षमताओं को निखारने का अवसर प्रदान करते हैं। विक्रम ने जादू सीखने के लिए जिज्ञासा को पूरा किया और एक नयी दुनिया खोली, जो उसके लिए रोमांचक और मजेदार थी।

जैसे तुम, वैसे ही मैं

एक गाँव में एक बड़ा ही अच्छा गुरु जी रहते थे। वे बच्चों के बीच में पढ़ाई कराते थे और उन्हें ज्ञान की ओर मोड़ते थे। गुरु जी का सबसे पसंदीदा छात्र था एक छोटा सा लड़का नामक राजू।

Moral Story In Hindi For Class 10
जैसे तुम वैसे ही मैं Moral Story In Hindi For Class 10

राजू छात्रों में बहुत ही प्रिय था, क्योंकि वह न केवल बुद्धिमान था बल्कि उसकी आचार विचार भी बड़े अच्छे थे। वह हमेशा गुरु जी की शिक्षा का पालन करता और दूसरों की मदद करने के लिए सदैव तैयार रहता।

एक दिन, गुरु जी ने अपने छात्रों से एक महत्वपूर्ण सवाल पूछा, “क्या तुम जानते हो कि हमें अपने जीवन में किसी न किसी की मदद करनी चाहिए?”

सभी छात्रों ने हां कह दी, लेकिन राजू ने खास ध्यान दिया। गुरु जी ने उससे कहा, “अब तुम यह सोचो, कैसे तुम अपनी समझ, दया, और नेक आचरण से दूसरों की मदद कर सकते हो?”

राजू ने विचार किया और उसने गुरु जी से कहा, “मैं यह मानता हूँ कि हमें अपने आचरण से दूसरों को प्रेरित करना चाहिए। हमें अच्छे काम करने का प्राथमिकता देना चाहिए ताकि दूसरे भी हमारी ओर देखकर एक साथ चलें।”

गुरु जी मुस्कुराए और कहे, “राजू, तुमने सही कहा। हमें स्वयं में वह बदलाव देना चाहिए जो हम दुनिया में देखना चाहते हैं।”

इस Moral Story In Hindi For Class 10 कहानी से हमें यह सिखने को मिलता है कि हमें बदलाव अपने आचरण से ही लाना चाहिए, और हमारे सुदृढ़ नेतृत्व से ही दूसरों को प्रेरित करना चाहिए। राजू ने दिखाया कि हर कोई छोटे कदमों से बड़ी परिवर्तन कर सकता है और एक बेहतर दुनिया की ओर सबको ले जा सकता है।

बन्दर और खरगोश की मित्रता

एक बार की बात है, एक जंगल में एक बन्दर और एक खरगोश रहते थे। वे अपने-अपने तरीके से खुश रहते थे, लेकिन कभी-कभी वे आपस में झगड़ते थे।

Moral Story In Hindi For Class 10
बंदर और खरगोश की मित्रता Moral Story In Hindi For Class 10

एक दिन, खरगोश ने एक विचार दिया, “हम दोनों बहुत अलग-अलग हैं, और हमारी मित्रता का कोई मतलब नहीं है।”

बन्दर ने सोचा, “क्या खरगोश सही कह रहा है? क्या हम वाकई अलग हैं?”

खरगोश ने आगे कहा, “मैं तुमसे तेज़ दौड़ सकता हूँ, लेकिन तुम मेरी तरह उच्चायुक्त चीजें तलाशने में मदद नहीं कर सकते।”

Moral Story In Hindi For Class 10

बन्दर ने मुस्कराते हुए कहा, “तुम जो कर सकते हो, मैं वह नहीं कर सकता, लेकिन मैं जो कर सकता हूँ, वह तुम नहीं कर सकते। हम एक-दूसरे के कमजोरियों को पूरा कर सकते हैं।”

खरगोश बन्दर के विचार से सहमत हो गया और वे फिर से दोस्त बन गए। उन्होंने एक साथ काम करना शुरू किया और उनका साथीपन और मित्रता और भी मजबूत हुआ।

यह Moral Story In Hindi For Class 10 कहानी हमें यह सिखाती है कि हर किसी का अपना खासीयत होता है और हमें अपने मित्रों के साथ काम करके उनकी ताक़तों का सही उपयोग करना चाहिए। साथ ही, हमें यह भी याद दिलाती है कि दोस्ती और सहयोग हमारे जीवन में महत्वपूर्ण हैं।

साहसी बच्चा और बाघ

बहुत समय पहले की बात है, एक गाँव में एक बहुत ही साहसी बच्चा रहता था, जिसका नाम आदित्य था। आदित्य गाँव के सभी बच्चों के बीच में सबसे साहसी और निर्भीक था।

Moral Story In Hindi For Class 10
साहसी बच्चा और बाघ Moral Story In Hindi For Class 10

एक दिन, जब आदित्य जंगल में खेल रहा था, तो वह अपने दोस्तों के साथ एक बड़े से बाघ के स्पर्श के निशान को देखता है। यह बाघ गाँव के बड़े निकट ही बसा हुआ था, और लोग डर के मारे घरों में बंद हो गए थे।

आदित्य के दोस्त डर से काँप रहे थे, लेकिन आदित्य ने निर्भीक रूप से कहा, “मुझे जाना है उस बाघ के पास और उसके साथ मित्रता करनी है।”

आदित्य एक मानकर जंगल की ओर बढ़ता है, जब वह बाघ के पास पहुंचता है, तो वह देखता है कि बाघ बीमार है और प्यासा है। आदित्य दिल के बड़े ही दिल से उसकी मदद करता है, और बाघ को खाने का खिलाता है।

बाघ को यह बड़े पसंद आता है कि कोई उसकी मदद कर रहा है, और वह आदित्य से दोस्ती करता है। उनके बीच में एक अजीब-अजीब दोस्ती का आरंभ हो जाता है।

Moral Story In Hindi For Class 10

जंगल में वे साथ खेलने लगते हैं, और आदित्य बाघ को बहुत कुछ सिखाता है, जैसे कि जंगल के जीवों के साथ सहयोग कैसे करना है।

बाघ के साथ दोस्ती करके, आदित्य गाँव में वापस आता है, और उसके दोस्त बच्चों को यह सिखाता है कि डर को पार करके और दूसरों के साथ सहयोग करके हम किसी भी मुश्किल को पार कर सकते हैं।

इस Moral Story In Hindi For Class 10 कहानी से हमें यह सिखने को मिलता है कि साहस, दोस्ती, और सहयोग से हम किसी भी मुश्किल को पार कर सकते हैं, और हमें किसी भी चुनौती का सामना करने के लिए तैयार रहना चाहिए।

साहसी छोटी बंदर

बहुत समय पहले की बात है, एक जंगल में एक छोटी सी बंदरिया नामक लड़की रहती थी। उसका नाम छोटू था। छोटू बहुत ही साहसी और समझदार थी, लेकिन उसकी छोटी आकार के कारण, वह कभी भी अपने दोस्तों के साथ खेलने का मौका नहीं पा सकती थी।

Moral Story In Hindi For Class 10
साहसी छोटा बंदर Moral Story In Hindi For Class 10

एक दिन, छोटू अपने दोस्तों के साथ खेल रही थी। वे एक ऊँचे पेड़ के पास पहुँचे और वहाँ पर एक स्वादिष्ट आम था, जिसकी खुशबू सबको बहुत पसंद आई। छोटू ने सोचा कि वह भी आम का स्वाद चखना चाहती है, लेकिन वह पेड़ तक पहुँचने के लिए बहुत छोटी थी।

छोटू ने अपने दोस्तों से कहा, “मैं भी आम चाहती हूँ, क्या तुम मेरी मदद कर सकते हो?”

छोटू के दोस्तों ने उसकी छोटी आकार को देखकर हंसी कर दी और कहा, “तुम तो इतनी छोटी हो, कैसे पहुँचोगी?”

Moral Story In Hindi For Class 10

लेकिन छोटू हार नहीं मानी। वह एक छोटे से पत्थर को उठाकर उसे पेड़ की ओर फेंक दिया। पत्थर का ध्यान आकर्षित करते हुए, वह पेड़ की ओर बढ़ चली।

पेड़ पर पहुँचकर, छोटू ने आम को तोड़ने का प्रयास किया, और वह इसमें सफल हो गई। अब वह अपने दोस्तों के साथ आम का स्वाद ले रही थी, और सभी ने उसकी साहसिकता की सराहना की।

इस Moral Story In Hindi For Class 10 कहानी से हमें यह सिखने को मिलता है कि साहस और समझदारी से हम किसी भी मुश्किल को पार कर सकते हैं, चाहे हमारी स्थिति छोटी हो या बड़ी। छोटू ने अपने साहस और समझदारी के साथ अपना लक्ष्य पूरा किया और सबको यह सिखाया कि छोटी बंदर भी बड़ी बातें कर सकती हैं।

छोटी सी मूर्गी का साहस

बहुत समय पहले की बात है, एक छोटी सी मूर्गी एक छोटे से गाँव में रहती थी। उसका नाम चिट्टू था। चिट्टू बहुत ही साहसी और उत्साही था। वह हमेशा नए साथियों बनाने और नई चुनौतियों का सामना करने के लिए तैयार रहती थी।

Moral Story In Hindi For Class 10
छोटी सी मुर्गी का साहस Moral Story In Hindi For Class 10

एक दिन, चिट्टू ने सुना कि जंगल के दुसरे किनारे पर एक बड़ा और सुंदर गाँव है, जिसमें विभिन्न प्रकार की मूर्गियाँ रहती हैं और वहाँ का जीवन बहुत रोमांचक होता है। चिट्टू को यह सुनकर तुरंत ही वह सोचती है कि वह उस छोटी सी मूर्गी का साहस लगे, नए दरवाजों को खोलकर और नए दोस्तों से मिलकर बहुत खुश थे।

चिट्टू और उसके साथियों ने अपनी यात्रा के दौरान कई मजेदार और रोमांचक किस्से सुने और देखे। वे एक दिन वह सुंदर गाँव पहुँचते हैं और वहाँ की मूर्गियों से मिलते हैं।

Moral Story In Hindi For Class 10

चिट्टू और उसके साथी नए दोस्त बनाते हैं और वह सुंदर गाँव के रोमांचक जीवन का आनंद लेते हैं। वे जंगल में एक नया घर बनाते हैं और वहाँ के जीवन का मजा लेते हैं।

इस Moral Story In Hindi For Class 10 कहानी से हमें यह सिखने को मिलता है कि साहस, उत्साह, और साझेदारी के साथ हर कठिनाई को पार किया जा सकता है। चिट्टू ने अपने सपनों की पुर्ति करने के लिए साहस दिखाया और नए दोस्तों के साथ एक सुखमय जीवन जीने का साहस किया।

गोलू और मोलू की कहानी

गोलू और मोलू एक गाँव में दो बड़े अच्छे दोस्त थे। वे हमेशा एक साथ खेलते थे, पढ़ाई करते थे, और बड़ी मस्ती करते थे। उनकी दोस्ती कभी भी टूटने वाली नहीं थी।

Moral Story In Hindi For Class 10
गोलू और मोलू की कहानी Moral Story In Hindi For Class 10

एक दिन, गोलू और मोलू ने सुना कि उनके गाँव में एक बड़ा मेला आ रहा है। मेले में खुशियों का माहौल था, और वे दोनों बड़े उत्साहित थे।

मेले में जाने से पहले, गोलू और मोलू ने अपने जेबों में पैसे डाले और दोनों ने एक-दूसरे से वादा किया कि वे मिलकर अपने पैसों का सबसे अच्छा इस्तेमाल करेंगे और मेले का आनंद उठाएंगे।

मेले में वे रिश्वत देने वाली बिली के पास पहुँचे, जो उन्हें एक जादू से भरा हुआ घर देने के लिए कहती है। गोलू और मोलू खुश होकर रिश्वत को स्वीकार करते हैं।

जब वे वापस गाँव लौटे, तो उन्होंने देखा कि उनका नया जादूगारी घर बहुत ही छोटा है। वे गुस्से से बिली के पास जाते हैं और उससे जादू को ठीक करने के लिए कहते हैं।

Moral Story In Hindi For Class 10

बिली उन्हें दो बड़े बड़े कागज़ देती है और कहती है कि जादू सही हो जाएगा, लेकिन वे इन कागज़ों को सुरक्षित रखने के लिए उनके दोस्ती की बजाय उनके पैसों को गहरी जमीन में गाड़ दें।

गोलू और मोलू को समझ में आ जाता है कि उन्होंने गरीबों के साथ दोस्ती को बेच दिया है, और वे तुरंत कागज़ों को खोदने का प्रयास करते हैं।

कागज़ों के बाहर दोनों को तीन सोने की बर्तन मिलते हैं, जिन्हें वे मेले पर बेचकर अच्छा मुनाफा कमाते हैं।

इस Moral Story In Hindi For Class 10 कहानी से हमें यह सिखने को मिलता है कि दोस्ती और ईमानदारी कभी भी मामूली चीजों से महत्वपूर्ण होती है। गोलू और मोलू की सच्ची दोस्ती ने उन्हें खुशियों का सच्चा मतलब सिखाया और उन्होंने साझा करने का महत्व समझा।

जादुई पतंग

बहुत समय पहले की बात है, एक छोटे से गाँव में एक छोटा सा लड़का नामक विक्रम रहता था। वह गरीब था, लेकिन उसके पास एक बड़ा सपना था – वह अपनी पतंग उड़ाना चाहता था।

Moral Story In Hindi For Class 10
जादुई पतंग Moral Story In Hindi For Class 10

विक्रम का सपना था कि वह अपनी पतंग को इतना ऊँचा उड़ाए कि सब लोग उसे देखकर हैरान हो जाएं। वह गाँव के पास के मेंढ़क झूले पे जाता और अपनी पतंग की तैयारी करता।

एक दिन, जब विक्रम अपनी पतंग के साथ झूले पर बैठा था, तो उसने एक वृद्ध आदमी को अपने पास आते देखा। वृद्ध आदमी ने विक्रम के पास एक जादूई पतंग दी।

वृद्ध आदमी ने कहा, “इस पतंग को उड़ाने पर तुम्हारे सभी सपने पूरे होंगे, लेकिन याद रखो, तुम्हें कभी भी अपनी भावनाओं को नियंत्रित रखना होगा।”

Moral Story In Hindi For Class 10

विक्रम खुशी-खुशी उस पतंग को ले लिया और उड़ान भरने के लिए तैयार हो गया। जब वह पतंग को ऊँचे आसमान में उड़ाता है, तो कुछ अद्वितीय घटनाएँ घटती हैं।

विक्रम की पतंग से रंगीन रेंबो बनता है, और वह आसमान के ऊपर एक महान सफर करता है। वह भूल जाता है कि वह अपनी भावनाओं को नियंत्रित रखना सीखना चाहिए और पतंग की शक्ति का सही तरीके से उपयोग करना होगा।

विक्रम की पतंग ने उसे सबसे ऊँचे आसमान में ले जाया, लेकिन फिर विक्रम को उसे नीचे लाने के लिए सबसे ऊँचे ऊँचे पर्वतों और बादलों के साथ ले जाता है।

Moral Story In Hindi For Class 10

विक्रम के साथी लोग परेशान हो जाते हैं और वह समझता है कि वह अपनी भावनाओं को नियंत्रित रखने के बिना यहाँ नहीं बच सकता।

विक्रम अपनी भावनाओं को संयमित करता है और अपनी पतंग को नीचे लाता है। वह अपने साथी लोगों के साथ गर्मियों की छुट्टियों के दौरान अपनी अनगिनत कहानियाँ बनाता है और सबको यह सिखाता है कि आपके सपने पूरे हो सकते हैं, अगर आप उन्हें सच्चे दिल से चाहते हैं और उनके प्रति समर्पित हैं।

और इसी तरह, विक्रम की पतंग ने उसे यह सिखाया कि सपने हकीकत में बदल सकते हैं, अगर हम उन्हें पूरी इमानदारी और मेहनत से पूरा करने के लिए समर्पित हैं।

बुद्धिमान बूढ़ा उल्लू

बहुत समय पहले की बात है, एक जंगल में एक बड़ा ही बुद्धिमान उल्लू बसता था। उसका नाम ग्यान था। ग्यान जंगल के सभी जानवरों के लिए एक बड़े ही समझदार सलाहकार था।

Moral Story In Hindi For Class 10
बुद्धिमान बुद्ध उल्लू Moral Story In Hindi For Class 10

एक दिन, जंगल के सभी जानवर एक बड़ी समस्या के सामने खड़े हो गए। उन्हें प्यास लग रही थी और वे नदी के किनारे पहुंचे। लेकिन नदी में पानी बहुत नीचे था, और वे उसे पहुंचने में सक्षम नहीं थे।

जंगल के जानवरों ने ग्यान उल्लू से सलाह मांगी कि कैसे वे पानी पहुंचा सकते हैं। ग्यान उल्लू ने ध्यान से सुना और फिर उन्हें एक बड़ा समाधान दिया।

उल्लू ने कहा, “आप एक बड़ा गहरा खुदाई करें जो नदी के पास हो, और तब तक खुदाई करते रहें जब तक पानी न आए।”

Moral Story In Hindi For Class 10

जंगल के जानवरों ने उल्लू की सलाह का पालन किया और जमीन की खुदाई करने लगे। वे मेहनती रूप से काम करते रहे और नदी के पानी की ओर बढ़ रहे थे।

धीरे-धीरे, जमीन की खुदाई से नदी के पानी उनके पास पहुंचने लगा, और वे सभी प्यास बुझा लिए।

इस Moral Story In Hindi For Class 10 कहानी से हमें यह सिखने को मिलता है कि समस्याओं का समाधान अक्सर हमारे पास ही होता है, बस हमें उसे पहचानने और मेहनत करने की आवश्यकता होती है। ग्यान उल्लू ने अपनी बुद्धि से समस्या का समाधान प्रदान किया और सबकी मदद की।

और इसी तरह, जंगल के जानवरों ने मिलकर अपनी समस्या का समाधान ढूंढ निकाला, जो हमें यह याद दिलाता है कि साथ मिलकर हम किसी भी मुश्किल को पार कर सकते हैं।

छोटे पिपड़ी की बहादुरी

बहुत समय पहले की बात है, एक छोटी सी पिपड़ी एक हरियाली और खुशमिजाज जंगल में अपने परिवार के साथ रहती थी। उसका नाम चिट्टी था।

Moral Story In Hindi For Class 10

एक दिन, जंगल में एक भयानक शेर आया, और वह छोटे पक्षियों की ओर बढ़ रहा था। बड़े पक्षियों ने डर कर दौड़ना शुरू किया, लेकिन छोटी सी चिट्टी ने अपनी बहादुरी का प्रदर्शन किया।

चिट्टी ने शेर के सामने अपने पंखों को बड़ा किया और बड़े ही धैर्य से उसकी ओर उड़ी। वह शेर के सामने ठहर गई और डरने का नाम नहीं लिया।

Moral Story In Hindi For Class 10

शेर चिट्टी को देखकर हैरान हुआ कि इस छोटी सी पिपड़ी ने उसके खिलाफ इतनी साहसी तरीके से विरोध किया। शेर ने सोचा कि इस परिपक्व और बड़े जंगल के राजा के रूप में उसे खाना चाहिए।

लेकिन जब शेर ने चिट्टी को बात की, तो उसने जानकारी प्राप्त की कि यह पिपड़ी छोटी नहीं बल्कि बड़ी है। वह इस छोटी सी पिपड़ी की बहादुरी को सराहना किया और उसे जाने दिया।

इस Moral Story In Hindi For Class 10 कहानी से हमें यह सिखने को मिलता है कि आपकी आकार या साक्षरता आपकी बहादुरी और संकल्प को नहीं हारा सकती। छोटे पक्षियों में भी बड़ी बहादुरी हो सकती है, और हमें अपने सपनों की ओर बढ़ते रहना चाहिए, डर का सामना करते हुए भी।

और इस तरह, छोटी सी चिट्टी ने अपनी बहादुरी और संकल्प से शेर को डरा दिखाया और जंगल की हीरो बन गई।

साहसी छोटा पक्षी

बहुत समय पहले की बात है, एक छोटा सा पक्षी नामक चिरपी एक घने जंगल में अपने माता-पिता के साथ रहता था। चिरपी बहुत ही साहसी और उत्साही पक्षी था, लेकिन उसकी छोटी सी आकार की वजह से वह अकेले बाहर नहीं जा सकता था।

Moral Story In Hindi For Class 10
साहसी छोटा पक्षी Moral Story In Hindi For Class 10

एक दिन, जंगल में एक भयंकर और बड़ा शेर आया। वह जंगल में दहलीज़ पर खड़ा हो गया और अपने डरावने दाँतों को दिखाता हुआ बोला, “मुझे भूख लगी है, और मुझे खाने का आलसी मन है।”

चिरपी के माता-पिता डरकर छुप गए, लेकिन चिरपी ने अपने माता-पिता के साथ इस समय बचाव की सोची। वह खुद को नियमित ढंकने लगा और धीरे-धीरे अपनी आवाज़ कम कर दी।

Moral Story In Hindi For Class 10

शेर ने जंगल में इधर-उधर देखना शुरू किया, लेकिन उसने कोई पक्षी नहीं देखा। चिरपी ने अपनी साहसी बुद्धि से उसके ध्यान को भटकाया और शेर के पास उड़कर जाने का अवसर प्राप्त किया।

चिरपी ने शेर के आसपास उड़कर उसकी ध्यान भटकाने के लिए कुछ पत्थरों को उड़ाया और शोर किया, जिससे शेर का ध्यान वहीं बट गया।

इस दौरान, चिरपी के माता-पिता उसके बचाव के लिए अपनी जान की बाज़ी लगा देते हैं, लेकिन चिरपी ने उन्हें संकेत दिया कि वह ठीक है और उन्हें न डरने का साहस करना चाहिए।

Moral Story In Hindi For Class 10

शेर ने फिर अपना ध्यान चिरपी की ओर मोड़ा, और उसने वह तय किया कि यह छोटा सा पक्षी खाने के लायक नहीं है। शेर ने जंगल की तरफ बढ़ते कदम रखा, और चिरपी ने अपने माता-पिता के पास वापस जाकर कहा, “मुझे बताओ, दरने का क्या मतलब होता है?”

इस कहानी से हमें यह सिखने को मिलता है कि हमारी साहस और समझदारी कभी भी हमारे दुश्मनों को परास्त कर सकते हैं। चिरपी ने अपने छोटे से आकार के बावजूद अपने समय का सही इस्तेमाल किया और शेर को हराया।

जादुई लॉकेट

बहुत समय पहले की बात है, एक छोटे से गाँव में एक लड़की नामक अनिता रहती थी। अनिता बड़ी ही सामान्य दिनचर्या की लड़की थी, लेकिन उसके पास एक खास लॉकेट था।

Moral Story In Hindi For Class 10
जादुई लॉकेट Moral Story In Hindi For Class 10

यह लॉकेट उसकी दादी माँ के द्वारा उसे दिया गया था। दादी माँ ने कहा था कि यह लॉकेट जादू का है और सबकुछ संभाल सकता है। अनिता को इस पर विश्वास नहीं था, लेकिन वह इसे एक प्रेमी की याद में पहनने का अच्छा तरीका मानती थी।

एक दिन, जब अनिता अपने दोस्तों के साथ खेल रही थी, तो एक शेर उनकी ओर आया। अनिता डरकर चिल्लाई, लेकिन उसके लॉकेट ने जादू किया। एक ही पल में, वह लॉकेट से एक शक्तिशाली तालाब बनाई और उस शेर को बंदरों की सेना द्वारा पकड़ लिया गया।

अनिता के दोस्त और गाँव के लोग चौंके रह गए, लेकिन अनिता ने समझा कि उसके लॉकेट में कुछ ख़ास है। उसने लॉकेट को फिर से बंद किया और शेर को बिना किसी कठिनाई के वापस जंगल में भेज दिया।

Moral Story In Hindi For Class 10

अनिता द्वारा दिखाए गए साहस और लॉकेट की शक्ति ने उसे और भी आत्मविश्वासी बना दिया। वह सीख गई कि जादू के बिना भी वह बड़ी बातें कर सकती है और दुनिया में सही और अच्छी बातें करने की ताक़त उसके अंदर है।

इस Moral Story In Hindi For Class 10 कहानी से हमें यह सिखने को मिलता है कि हमारी अंदर की शक्तियों को पहचानने की आवश्यकता है और यह समझने की क़ोशिश करनी चाहिए कि हम कितनी बड़ी चीजें कर सकते हैं, अगर हम आत्मविश्वास और साहस से काम करें।

चालाक लोमड़ी और मूर्ख कौवा

बहुत पहले की बात है, एक जंगल में एक चालाक लोमड़ी रॉकी रहता था। वह जंगल का सबसे चालाक और होशियार जानवर था।

Moral Story In Hindi For Class 10
Moral Story In Hindi For Class 10

एक दिन, रॉकी ने एक मूर्ख कौवा को देखा जो एक टुकड़ा रोटी अपने मुंह में लेकर एक पेड़ की शाखा पर बैठा था। कौवा बहुत ही मूर्ख और अज्ञान दिख रहा था।

रॉकी ने सोचा, “यह मेरा मौका है! मैं कौवा को धोखा दे सकता हूँ।” तो उसने एक चाल ढ़ा दी।

रॉकी ने टुकड़ा खोया, जिसे वह फिर से कौवे के सामने गिराया। कौवा ने देखा और सोचा कि यह कुछ

बड़ा है! वह रोटी को बरकरारी करने के लिए अपने बिल में रख लिया और फिर उड़ गया।

Moral Story In Hindi For Class 10

रॉकी बहुत खुश हुआ क्योंकि वह अपनी चाल से रोटी हासिल कर लिया।

मूरल्य सिखाती है कि होशियारी और धैर्य से हम किसी भी परिस्थिति का सही तरीके से समझ सकते हैं और बेवकूफों को आसानी से फुसला सकते हैं।

 

Related Post

Leave a Reply