Short Emotional Story In Hindi में जानेंगे हमारे जीवन से किसी के चले जाने से या फिर कुछ खो जाने के वजह से अक्सर हम उदास रहते हैं। यह एक प्रकार का इन्सान का स्वभाव होता है।

यह बात हमें नहीं भूलना चाहिए कि इस दुनिया की यही रीत है। जब जिस समय जो चीज हमारे पास है वह बहुत ही अनमोल है। इस Short Emotional Story In Hindi में एक बहुत ही खूबसूरत और दिल छू जानें वाली छोटी कहानी है। क्युकी इस कहानी में बहुत ही गहराई के साथ लिखीं गई है।

इस Short Emotional Story In Hindi को पुरी ध्यान से पढ़िए और कमेंट में जरूर लिखें आपको कैसा लगा और कौन सी कहानी सबसे अच्छी लगी।

Emotional Story In Hindi

गुमशुदा ज़रूरतें

आकाश एक बड़े शहर में अपने परिवार के साथ रहता था, जहां रोज़ाना की भागदौड़ उसके अपनों के साथ अपने समय की अदृश्य ज़रूरतों को छिपा देती थी।

Top 10 Best Short Emotional Story In Hindi
Short Emotional Story In Hindi

एक बार, आकाश ने एक सड़क पर एक गरीब लड़के को देखा जो अपने गुज़रे हुए कपड़ों में बिना जूतों के चल रहा था। आकाश की दिल की सिद्धि हो जाती है कि वह लड़का कितने ज़रूरी समय की आवश्यकता में है।

वह गरीब लड़का उस समय के बिना जिंदगी में कितना सुना अनुभव कर रहा है, उसकी आंखों से जान पड़ती है। आकाश ने अपने जूते उतारकर उस लड़के को दिए और उसे उसके आवश्यकता के लिए पैसे दिए।

Short Emotional Story In Hindi

उस दिन के बाद, आकाश की सोच में बदलाव आता है। उसने समझा कि हमारी आवश्यकताएँ हमें अकेले नहीं बल्कि दूसरों के साथ साझा करनी चाहिए। उसने अपने समय को अपने परिवार और दोस्तों के साथ बिताने का आशय बनाया और अपनी ज़रूरतें शब्दों के पीछे छोड़ दी।

कहानी से हमें यह सिख मिलती है कि हमारी आवश्यकताएँ हमें सिर्फ चीज़ों में ही नहीं बल्कि समय, ध्यान और सहयोग में भी हो सकती हैं।”

“चिंता की भावना”

दीपिका एक चिंतामणि नगर में अपने परिवार के साथ रहती थी, जहां सभी लोग हमेशा कुछ न कुछ चिंतित रहते थे। चिंता उनके जीवन का हिस्सा बन गई थी और वे सब अपनी चिंताओं के बारे में बात करने में व्यस्त रहते थे।

Top 10 Best Short Emotional Story In Hindi
Short Emotional Story In Hindi

एक दिन, दीपिका ने गांव के पुराने पेड़ के नीचे एक बुद्धिमान साधु को बैठे देखा। साधु ने दीपिका की चिंताओं के बारे में पूछा और वह उनसे उनकी चिंताओं को कैसे दूर कर सकते हैं यह सीखने लगी।

साधु ने दीपिका को एक छोटे से पापर पर उनकी सभी चिंताओं को लिखने को कहा और फिर उन पापरों को एक झूला में बंधकर एक पेड़ की डाली पर बांध दिया।

Short Emotional Story In Hindi

साधु ने दीपिका से कहा, “यह झूला तुम्हारी चिंताओं को यहाँ छोड़ दो। चिंता करने से तुम्हारी समस्याओं का हल नहीं होगा।”

दीपिका ने झूले को पेड़ पर छोड़ दिया और वह देखती रही कैसे झूला धीरे-धीरे हवा में हिल रहा था और उसकी चिंताएं भी धीरे-धीरे दूर हो रही थीं।

दीपिका ने समझ लिया कि चिंता करने से न केवल उसकी समस्याएँ हल नहीं होतीं, बल्कि वह उसे और अधिक चिंतित भी बना सकती हैं। उसने साधु के सिखाए गए सिद्धांत को अपनाया और उसका जीवन खुशियों से भर गया।

कहानी से हमें यह सिख मिलती है कि चिंता करने की बजाय हमें अपनी चिंताओं को दूर करने के संभावित तरीकों की तलाश करनी चाहिए और प्राथमिकताओं को समझने की क़ोशिश करनी चाहिए।”

“बादलों की कहानी”

आदित्य एक गाँव में रहता था जहाँ पिछले कई सालों से सूखा का कहर बरपाए जा रहे थे। पूरे गाँव में पानी की कमी थी और लोगों को बारिश की प्रतीक्षा थी।

Top 10 Best Short Emotional Story In Hindi
Short Emotional Story In Hindi

एक दिन, आदित्य ने अपने दोस्त से कहा, “क्या तुम्हें नहीं लगता कि हमें बादलों की तरह बदलने की आवश्यकता है? वे हमें बारिश लाने का काम कर सकते हैं।”

उनके दोस्त ने हंसते हुए कहा, “तू पागल हो गया है क्या? बादल तो सिर्फ अपनी प्राकृतिक प्रक्रिया के अनुसार आते-जाते हैं, हम उन्हें कैसे बदल सकते हैं?”

Short Emotional Story In Hindi

आदित्य थोड़ी देर सोचता रहा और फिर बोला, “शायद तुम सही हो, लेकिन हम अपने गाँव की प्रतिस्पर्धा में कुछ अलग कर सकते हैं। हमें पानी की बचत करनी चाहिए और जल संरक्षण के उपाय ढूंढने चाहिए।”

आदित्य ने गाँव के लोगों को एक साथ आने की सलाह दी और उन्होंने विचार किया कि कैसे वे पानी की बचत कर सकते हैं। उन्होंने छोटे-छोटे बदलाव करके उनकी पानी की बचत की जागरूकता बढ़ाई और वे आपस में मिलकर जल संरक्षण के उपायों को अपनाने लगे।

धीरे-धीरे, गाँव में जल संकट कम होने लगा और बारिश की प्रतीक्षा भी कम हो गई। आदित्य ने सिखाया कि छोटे कदमों से भी बड़े परिवर्तन हो सकते हैं और बादलों की तरह हमें अपने आसपास की समस्याओं का समाधान खोजना चाहिए।

कहानी से हमें यह सिख मिलती है कि हमें समस्याओं के समाधान के लिए विचार करने की क्षमता होनी चाहिए और छोटे-छोटे

कदमों से भी हम बड़े परिवर्तन कर सकते हैं।”

Short Emotional Story In Hindi

“सफलता की कहानी”

रवि एक गाँव में जन्मा और वह गरीबी के बावजूद भी बड़े सपने देखता था। उसका सपना था कि वह एक दिन अपने गाँव को गरीबी से उबारकर उसकी सहायता करेगा।

Top 10 Best Short Emotional Story In Hindi
Short Emotional Story In Hindi

रवि ने कई मुश्किलों का सामना किया, लेकिन उसने हार नहीं मानी और न किसी भी स्थिति में अपने सपनों को छोड़ा। उसने मेहनत की और पढ़ाई की, जो कि उसके गाँव में मुश्किल होती थी।

उसकी मेहनत और संघर्ष ने उसे एक अच्छे कॉलेज में दाखिला दिलाया, जहाँ से वह अपने गाँव के लोगों की मदद करने के लिए और अधिक तैयार हुआ।

रवि ने अपने पढ़ाई के साथ-साथ सोशल वर्क करना शुरू किया और उसने गरीबों की मदद करने के लिए एक संगठन बनाया। उसने उन्हें शिक्षा, आर्थिक सहायता और रोज़गार के अवसर प्रदान किए।

धीरे-धीरे, उसके संगठन की उपस्थिति बढ़ने लगी और उसकी मदद से गाँव में सबकी आर्थिक स्थिति में सुधार हुआ। लोग उसे एक मार्गदर्शक के रूप में देखने लगे और उसकी सफलता की कहानी हर किसी के लिए प्रेरणास्त्रोत बन गई।

कहानी से हमें यह सिख मिलती है कि अगर हमारी मेहनत और संघर्ष सही दिशा में हो तो हम किसी भी मुश्किल को पार कर सकते हैं और सपनों को हकीकत बना सकते हैं।

“बेटी की पहचान”

मानवी एक छोटे से गाँव में रहती थी और वह अपने माता-पिता की एकमात्र बेटी थी। उनकी मानसिकता बेहद सकारात्मक थी और वह हमेशा खुद को उनके साथी नहीं, बल्कि साथीदार मानती थी।

Top 10 Best Short Emotional Story In Hindi
Short Emotional Story In Hindi

मानवी के पास बड़ी ख्वाहिश थी कि वह पढ़ाई करके अपने गाँव की स्तिति सुधार सके। लेकिन उनके पारिवारिक परिस्थितियाँ ऐसी नहीं थीं कि वह आसानी से अपने लक्ष्य की ओर बढ़ सकें।

उनके पिता के पास इतना पैसा नहीं था कि वह उनकी पढ़ाई का खर्च उठा सकें, लेकिन मानवी की आत्मविश्वास और मेहनत की बदौलत उन्होंने स्कॉलरशिप प्राप्त की और उनकी पढ़ाई शुरू की।

मानवी की मेहनत और संघर्ष ने उसे एक अच्छे कॉलेज तक पहुँचाया और वह अपने सपनों की पुरी दिशा में बढ़ती रही। उनकी माता-पिता भी उनकी मेहनत को देखकर गर्व महसूस करने लगे और उनके साथ ही उनकी साथी बनकर चलने लगे।

मानवी ने पढ़ाई करके अपनी समाज में एक मिसाल बनाई और उनकी कड़ी मेहनत ने उन्हें एक बेहतर जीवन दिलाया। उनकी कहानी हमें यह सिखाती है कि अगर हमारी मेहनत और आत्मविश्वास मजबूत हो तो हम किसी भी समस्या का समाधान निकाल सकते हैं।”

“पिता की सीख”

राजीव एक गांव में अपने पिता के साथ रहता था। उनके पिता एक छोटे से दुकानदार थे, जो कि मेहनत के साथ-साथ अपने मूल्यों के लिए भी जाने जाते थे। राजीव के पिता ने उसे हमेशा सिखाया कि आत्म-समर्पण और ईमानदारी के साथ ही सफलता हासिल की जा सकती है।

Top 10 Best Short Emotional Story In Hindi
Short Emotional Story In Hindi

बचपन से ही राजीव को यह सिख मिली थी कि मेहनत से कुछ भी हासिल किया जा सकता है। वह अपने पिता की तरह ईमानदारी और मेहनत में लग गया। वह अपने पढ़ाई में भी मेहनती था और उसने अपने सपनों की पुरी दिशा में कदम बढ़ाए।

राजीव ने एक बड़ी कंपनी में नौकरी पाई और उसके पिता के उपदेशों को याद करते हुए वह अपने काम में मेहनती और समर्पित रहा। उसकी मेहनत और समर्पण ने उसे काम में उन्नति दिलाई और उसके बॉस ने उसकी मेहनत की सराहना की।

राजीव की सफलता उसके पिता की सीख का परिणाम थी, जिन्होंने उसे ईमानदारी, मेहनत, और समर्पण की महत्वपूर्णीयता सिखाई थी। राजीव ने उनके उपदेशों को अपने जीवन में अपनाया और उसकी सफलता ने दुनिया को यह सिखाया कि ईमानदारी और मेहनत से आप किसी भी मुश्किल को पार कर सकते हैं।

कहानी से हमें यह सिखने को मिलता है कि परिश्रम, आत्म-समर्पण, और ईमानदारी से किसी भी क्षेत्र में सफलता हासिल की जा सकती है, और पिता की सीखें हमें हमेशा सही मार्ग पर चलने की मार्गदर्शन करती हैं।”

[contact-form][contact-field label=”Name” type=”name” required=”true” /][contact-field label=”Email” type=”email” required=”true” /][contact-field label=”Website” type=”url” /][contact-field label=”Message” type=”textarea” /][/contact-form]

Emotional Story In Hindi Pdf

“दोस्ती की मिसाल”

आर्या और विजय, एक छोटे से गाँव में रहने वाले दोस्त थे। उनकी दोस्ती का संबंध बचपन से ही था और उनके बीच में गहरी मित्रता थी।

Top 10 Best Short Emotional Story In Hindi
Short Emotional Story In Hindi

गाँव में आर्य की एक छोटी सी दुकान थी जहाँ वह दिन-रात मेहनत करता था। विजय उसकी मदद करने आता था और दोनों बड़े उत्साह से काम करते थे।

एक दिन, आर्य की दुकान में एक बड़ा सा आदमी आया और बड़े दबाव में आर्य से कहने लगा कि उसे उसकी दुकान दे देनी चाहिए, अन्यथा उसकी दुकान को बर्बाद कर देगा।

आर्य घबराया नहीं, और उसने अपने दोस्त विजय से मदद मांगी। विजय ने आर्य का साथ दिया और उन्होंने साथ मिलकर आदमी को समझाया कि वह दुकान को नहीं छोडेंगे।

दोनों दोस्तों की मिलकर मेहनत और साहस ने उन्हें सफलता दिलाई और वे अपनी दुकान की हिफाजत करने में कामयाब हो गए।

इस घटना से आर्य और विजय ने सिखा कि दोस्ती में साथीदारी, मेहनत, और सहायता कितनी महत्वपूर्ण होती है। वे दिखा गए कि दोस्ती एक अद्वितीय बंधन होती है जो कठिनाइयों को पार करने में मदद कर सकती है और साथ में तूफ़ानों का सामना कर सकती है।

कहानी से हमें यह सिख मिलती है कि दोस्ती में समर्पण, सहयोग, और साथीदारी होना कितना महत्वपूर्ण होता है, और अगर हम अपने दोस्तों के साथ मिलकर काम करते हैं । तो आसानी से हर मुश्किलों पर पार पा सकते है।

“माँ की ममता

रिया एक छोटे से गाँव में अपनी माँ के साथ रहती थी। उनकी माँ का नाम सीमा था और वह एक बहुत ही मेहनती और समर्पित माँ थी।

Top 10 Best Short Emotional Story In Hindi
Short Emotional Story In Hindi

रिया की माँ ने कभी भी किसी भी मुश्किल से पीछे हटने की दिशा में सोचने का नाम नहीं लिया। वह हमेशा अपनी बेटी के भविष्य के लिए संघर्ष करती रहती थी।

रिया की माँ ने महत्वपूर्ण सिख दी कि माँ की ममता किसी भी हालात में हार नहीं मानने देती। वह रिया के साथ हर कदम पर थी और उसे एक मजबूत आत्मविश्वास देती रही।

रिया के पढ़ाई में भी कई मुश्किलें आईं, लेकिन उनकी माँ ने उन्हें हमेशा उत्साहित रहने के लिए प्रेरित किया। उन्होंने रिया को सिखाया कि कठिनाइयों का सामना करने के लिए हमें डरने की ज़रूरत नहीं होती, बल्कि मेहनत करनी चाहिए।

रिया ने अपनी माँ की सिखों का पालन करते हुए पढ़ाई में अच्छे अंक हासिल किए और एक प्रतिष्ठित कॉलेज में दाखिला प्राप्त किया। उन्होंने अपनी माँ की ममता और मार्गदर्शन का आभार उत्तारा और वह आज उच्च शिक्षा के क्षेत्र में सफलता प्राप्त कर रही है।

कहानी से हमें यह सिख मिलती है कि माँ की ममता किसी भी समस्या का समाधान हो सकती है और उनका साथ हमें किसी भी मुश्किल को पार करने में मदद कर सकता है। माँ का स्नेह और सहयोग हमें आत्मविश्वास देता है कि हम किसी भी हालात में सफल हो सकते हैं।”

Long Emotional Story In Hindi

“बदलते रिश्तों की कहानी”

आयुष एक छोटे से शहर में रहने वाली थी और उसके पास एक खास दोस्त था, नितिन। वे बचपन से ही साथ खेलने वाले और सभी मुश्किलों को साथ में पार करने वाले दोस्त थे।

Top 10 Best Short Emotional Story In Hindi
Short Emotional Story In Hindi

जब आयुष की माता-पिता ने उसे बड़े शहर में पढ़ाई के लिए भेज दिया, तब वे दोनों दोस्त दूर हो गए, लेकिन उनकी मित्रता किस्मत की तरह मजबूत थी।

समय बीतता गया और आयुष और नितिन अपने अलग-अलग जीवनों में बिना मिले बड़े हो गए। आयुष ने एक प्रतिष्ठित कंपनी में नौकरी पाई और नितिन खुद का छोटा सा व्यवसाय शुरू किया।

एक दिन, जब आयुष विदेश जा रही थी, तब उसने अपने पुराने दोस्त नितिन को अपने साथ ले जाने का निर्णय लिया। वे दोनों लंदन गए और वहाँ उनकी मित्रता फिर से फूल गई।

उनके बीच की मित्रता बदली नहीं थी, बल्कि वह दोनों एक दूसरे के साथ किए गए बदलते समय के साथ और भी गहरी हो गई थी। उनकी एक-दूसरे के प्रति समर्पण और साथीदारी ने उन्हें समृद्धि की ओर बढ़ने में मदद की।

कहानी से हमें यह सिखने को मिलता है कि ज़िन्दगी में रिश्तों का महत्व कितना होता है, और जब हम अपने दोस्तों के साथ बिना किसी उम्मीद के सही मायनों में होते हैं, तो वे हमारे जीवन की सबसे मूलभूत छवि बन जाते हैं।”

“एक अनमोल रिश्ता”

रितिक और प्रिया, दो बच्चे जो कि समाज के दो अलग वर्गों से थे, एक दिन एक स्कूल में मिले। रितिक एक सामाजिक रूप से पिछड़े वर्ग से थे, जबकि प्रिया उच्च वर्ग से थी।

Top 10 Best Short Emotional Story In Hindi
Top 10 Best Short Emotional Story In Hindi

रितिक और प्रिया की मुलाकात कई सामाजिक स्थितियों के बावजूद एक दिन किस्मत की तरह हुई। वे एक साथ कक्षा में बैठे और धीरे-धीरे एक-दूसरे से बात करने लगे।

उनकी दोस्ती बड़ी तेज़ी से बढ़ती गई और उनके बीच एक गहरा रिश्ता बन गया। वे आपस में समय बिताने लगे, समस्याओं को साथ में सुलझाने लगे और आपसी समर्थन से अपने लक्ष्यों की ओर बढ़ने लगे।

प्रिया के परिवार वाले उनकी दोस्ती से खुश नहीं थे, क्योंकि उनके मानसिकता और सामाजिक दृष्टिकोण से रितिक का वर्ग उनके से अलग था। लेकिन प्रिया ने अपने मानसिकता के साथ उनकी दोस्ती को बनाए रखने का निर्णय लिया।

समय बीता और रितिक और प्रिया की दोस्ती ने उन्हें सिखाया कि व्यक्तिगतता और मानसिकता के बावजूद, अगर दिल से साथ हो, तो रिश्ते मजबूती से बढ़ सकते हैं। उनकी दोस्ती की मिसाल ने समाज में जाति और वर्ग के बाधाओं के खिलाफ एक उम्मीद की किरण पैदा की।

कहानी से हमें यह सिखने को मिलता है कि अगर हम दूसरों के वर्ग या मानसिकता के आधार पर उनसे रिश्ता बनाने से पीछे हटते हैं, तो हम अपनी जीवन की सबसे अनमोल मित्रता की अवसरों को खो सकते हैं।”

Heart Touching Emotional Story In Hindi

“ख्वाबों की पुरानी दास्तान”

सिमा एक छोटे से गाँव की रहने वाली थी, जिनका एक ही ख्वाब था – डॉक्टर बनना। उनके पारिवारिक परिस्थितियाँ कठिन थीं, लेकिन उनका आत्मविश्वास और मेहनत उन्हें उनके लक्ष्य की दिशा में बढ़ने में मदद करते थे।

सिमा ने स्कॉलरशिप प्राप्त करके अपने ख्वाबों की पुरी दिशा में कदम बढ़ाया। लेकिन उनकी यात्रा मुश्किल से भरी थी, क्योंकि उन्हें अपने छोटे गाँव से दूर एक अजीब और अद्वितीय जगह में पढ़ाई करनी पड़ी।

पहले कुछ सालों में, सिमा ने अपने आप को सबकुछ हासिल करने की कठिनाइयों का सामना किया – नए लोगों से मिलना, अपने को आदतों का बदलना, और अपने आप में विश्वास बनाए रखना।

उनकी मेहनत और समर्पण ने उन्हें एक अद्वितीय और मानवता की सेवा में लगी डॉक्टर बनने की दिशा में आगे बढ़ने में मदद की। वे अपने लक्ष्य की प्राप्ति के लिए किसी भी मुश्किल से हार नहीं मानी।

अंततः, सिमा ने अपना ख्वाब पूरा किया और एक मानवता की सेवा करने वाले अच्छे डॉक्टर के रूप में सफलता प्राप्त की। उनकी कहानी हमें यह सिखाती है कि अगर हमारे पास आत्मविश्वास और संकल्प हो, तो हम किसी भी मुश्किल से पार कर सकते हैं और अपने ख्वाबों को हकीकत में बदल सकते हैं।”

“एक छोटी सी चुपके से कहानी”

रोहित एक बहुत ही आलसी और सामान्य जीवन बिता रहे थे। उनके पास कोई खास लक्ष्य नहीं था और वे हमेशा अपने कर्तव्यों से बचने की कोशिश करते थे।

Top 10 Best Short Emotional Story In Hindi
Short Emotional Story In Hindi

एक दिन, रोहित को एक छोटी सी पुरानी किताब मिली। वह विचार करने लगे कि क्यों ना उन्हें इस किताब को पढ़कर देखा जाए। जैसे ही वह किताब को खोलते हैं, उनकी दुनिया बदलने लगी।

किताब में एक कहानी थी एक सामान्य लड़के की, जिसने अपनी मेहनत और समर्पण से एक महत्वपूर्ण लक्ष्य प्राप्त किया। वह लड़का कुछ समय में ही सफलता हासिल कर गया था, और उसकी मेहनत ने उसे उसकी मंजिल तक पहुँचाया।

रोहित की दिलचस्पी जाग उठी और उन्होंने खुद को एक नये दृष्टिकोण से देखने का निर्णय लिया। उन्होंने खुद को एक लक्ष्य प्राप्त करने के लिए प्रेरित किया और मेहनत करने लगे।

वक्त बीतता गया और रोहित की मेहनत, समर्पण और नये दृष्टिकोण ने उन्हें उनके लक्ष्य तक पहुँचाया। उनकी सफलता की कहानी ने दुनिया को यह सिखाया कि आदतों को बदलकर, मेहनत करके, और समर्पण से हम किसी भी मंजिल को प्राप्त कर सकते हैं।

कहानी से हमें यह सिखने को मिलता है कि हमारी सोच और क्रियाएं हमारे जीवन को कैसे परिवर्तित कर सकती हैं, और अगर हम नए दृष्टिकोण से अपने लक्ष्य की ओर बढ़ें, तो हम सफलता की ऊंचाइयों तक पहुँच सकते हैं।”

 

Leave a Reply