PFMS Full Form In Hindi :-पीएफएमएस का पुरा नाम क्या है?

PFMS Full Form In Hindi
PFMS Full Form In Hindi

सार्वजनिक वित्तीय प्रबंधन प्रणाली (पीएफएमएस)(Public Financial Management System (PFMS) )भारत सरकार द्वारा विकसित और कार्यान्वित एक क्रांतिकारी वेब-आधारित ऑनलाइन सॉफ्टवेयर एप्लिकेशन है। पीएफएमएस, जिसे शुरू में केंद्रीय योजना योजना निगरानी प्रणाली (सीपीएसएमएस) के रूप में जाना जाता था, को वितरित धन की वास्तविक समय पर ट्रैकिंग प्रदान करके और यह सुनिश्चित करके कि राज्य कोषागारों को कुशलतापूर्वक और प्रभावी ढंग से प्रबंधित किया जाता है,

PFMS Full Form In Hindi

सार्वजनिक वित्तीय प्रबंधन प्रणाली (पीएफएमएस)(Public Financial Management System (PFMS) सरकार के लिए एक मजबूत सार्वजनिक वित्तीय प्रबंधन प्रणाली की सुविधा प्रदान करने के लिए डिज़ाइन किया गया है। यह मंच पारदर्शिता बढ़ाने, जवाबदेही सुनिश्चित करने और सरकार के विभिन्न स्तरों पर धन के प्रवाह को तेज करने में सहायक है।

PFMS Full Form In Hindi

PFMS की उत्पति

पीएफएमएस की यात्रा वित्त मंत्रालय के लेखा महानियंत्रक (सीजीए) कार्यालय द्वारा इसकी स्थापना के साथ शुरू हुई, जिसका प्राथमिक उद्देश्य भारत सरकार की सभी योजना योजनाओं के तहत जारी धन को ट्रैक करना और यह सुनिश्चित करना था कि राज्य कोषागारों को कुशलतापूर्वक प्रबंधित किया जाए। बैंकों के कोर बैंकिंग सिस्टम (सीबीएस) के साथ एकीकरण।

पीएफएमएस(PFMS )के मुख्य उद्देश्य

पीएफएमएस के मुख्य उद्देश्य कई हैं, जो प्राप्तकर्ता को कुशल धन प्रवाह सुनिश्चित करने, फंड संवितरण की वास्तविक समय पर नज़र रखने और सरकार की योजनाओं के समग्र वित्तीय प्रबंधन को बढ़ाने पर ध्यान केंद्रित करते हैं। इसका उद्देश्य सभी योजना निधियों को कवर करते हुए केंद्र सरकार से बड़ी संख्या में योजना लाभार्थियों तक धन प्रवाह की पूरी ट्रैकिंग के लिए एक सामान्य इलेक्ट्रॉनिक मंच स्थापित करना है।

पीएफएमएस(PFMS) कैसे काम करता है

पीएफएमएस केंद्र और राज्य सरकारों और उनकी एजेंसियों की वित्तीय प्रणालियों के साथ एकीकृत होकर धन के निर्बाध प्रवाह और ट्रैकिंग की सुविधा प्रदान करता है। यह लाभार्थियों को प्रत्यक्ष लाभ हस्तांतरण (डीबीटी) के लिए बैंकिंग प्रणाली से जुड़ता है, जिससे समय पर और सटीक भुगतान सुनिश्चित होता है।

पीएफएमएस की मुख्य विशेषताएं

पीएफएमएस की कुछ असाधारण विशेषताओं में लाभार्थियों को प्रत्यक्ष लाभ हस्तांतरण (डीबीटी), फंड प्रवाह की वास्तविक समय पर नज़र रखना, बैंकों और सरकारी एजेंसियों के साथ एकीकरण और वित्तीय लेनदेन का स्वचालित समाधान शामिल है।

पीएफएमएस के पीछे की तकनीक

पीएफएमएस उन्नत प्रौद्योगिकी का लाभ उठाता है, जिसमें 90 से अधिक बैंकों के कोर बैंकिंग समाधान (सीबीएस) के साथ एकीकरण शामिल है, जो देश के सार्वजनिक वित्त के प्रबंधन के लिए एक मजबूत और सुरक्षित मंच सुनिश्चित करता है। यह तकनीकी आधार पीएफएमएस को सटीकता और दक्षता सुनिश्चित करते हुए भारी मात्रा में लेनदेन और डेटा को संभालने में सक्षम बनाता है।

पीएफएमएस के लाभ

पीएफएमएस कई लाभ लाता है, जिसमें सरकारी लेनदेन में पारदर्शिता में वृद्धि, फंड प्रबंधन में बढ़ी हुई दक्षता, धन के रिसाव में कमी और प्रत्यक्ष लाभ हस्तांतरण तंत्र में सुधार शामिल है। ये लाभ सरकारी एजेंसियों और लाभार्थियों दोनों को मिलते हैं।

सरकारी एजेंसियों के लिए

सरकारी एजेंसियों को उन्नत वित्तीय प्रबंधन, फंड उपयोग की बेहतर निगरानी और ट्रैकिंग और फंड वितरण में कम समय के माध्यम से पीएफएमएस से लाभ होता है।

लाभार्थियों के लिए सरकारी योजनाओं के लाभार्थियों को पीएफएमएस के कारण धन तक सीधी और त्वरित पहुंच का अनुभव होता है, जिससे यह सुनिश्चित होता है कि वित्तीय सहायता बिना किसी देरी के और बिचौलियों की आवश्यकता के बिना उन तक पहुंचती है।

पीएफएमएस का कार्यान्वयन

विभिन्न सरकारी विभागों और योजनाओं में पीएफएमएस के कार्यान्वयन में सावधानीपूर्वक योजना, बैंकिंग भागीदारों के साथ समन्वय और कर्मियों का प्रशिक्षण शामिल है। यह एक चरणबद्ध प्रक्रिया है जिसके लिए प्रत्येक सरकारी एजेंसी की विशिष्ट आवश्यकताओं को अपनाने की आवश्यकता होती है।

कार्यान्वयन में चुनौतियाँ

पीएफएमएस को लागू करने में चुनौतियों में डिजिटल साक्षरता, ग्रामीण क्षेत्रों में बैंकिंग बुनियादी ढांचे और सरकारी एजेंसियों के बीच परिवर्तन के प्रतिरोध के मुद्दे शामिल हैं। इन चुनौतियों पर काबू पाने के लिए प्रशिक्षण, जागरूकता कार्यक्रम और तकनीकी उन्नयन सहित ठोस प्रयासों की आवश्यकता है।

सफलता की कहानियां

पूरे भारत में पीएफएमएस कार्यान्वयन की कई सफलता की कहानियां हैं, जो फंड प्रबंधन में बेहतर दक्षता, बढ़ी हुई पारदर्शिता और लाखों लाभार्थियों को प्रत्यक्ष लाभ हस्तांतरण का प्रदर्शन करती हैं।

पीएफएमएस और वित्तीय समावेशन

पीएफएमएस लाखों लाभार्थियों के बैंक खातों में सीधे लाभ हस्तांतरित करके वित्तीय समावेशन को बढ़ावा देने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है, जिनमें से कई समाज के हाशिए पर रहने वाले वर्गों से हैं। इससे न केवल वे आर्थिक रूप से सशक्त हुए हैं बल्कि वे औपचारिक बैंकिंग प्रणाली में भी आ गए हैं।

पीएफएमएस के लिए भविष्य की दिशाएँ

अधिक क्षेत्रों में संभावित विस्तार और बढ़ी हुई सुरक्षा और पारदर्शिता के लिए ब्लॉकचेन जैसी उन्नत प्रौद्योगिकियों के समावेश के साथ पीएफएमएस का भविष्य आशाजनक लग रहा है। सार्वजनिक वित्तीय प्रबंधन की दक्षता और प्रभावशीलता में सुधार पर ध्यान केंद्रित रहेगा।

निष्कर्ष

पीएफएमएस पारदर्शी, कुशल और जवाबदेह शासन की दिशा में भारत की पहल की आधारशिला के रूप में खड़ा है। लाखों भारतीयों को लाभ का सीधा हस्तांतरण सुनिश्चित करने के लिए प्रौद्योगिकी का लाभ उठाकर, पीएफएमएस केवल एक वित्तीय प्रबंधन उपकरण नहीं है, बल्कि सामाजिक परिवर्तन और सशक्तिकरण का एक माध्यम है। इसका निरंतर विकास और नई चुनौतियों और अवसरों के प्रति अनुकूलन देश के वित्तीय प्रशासन पर इसके प्रभाव को और बढ़ाने का वादा करता है।

FAQs

1.What is PFMS and why is it important?

Ans:- PFMS is a web-based platform for efficient fund management and disbursement for government schemes, ensuring transparency and accountability in public financial transactions.

2. How does PFMS benefit the common citizen?

Ans:- PFMS ensures that benefits from various government schemes are directly transferred to beneficiaries’ bank accounts, reducing leakage and ensuring timely payments.

3. Can PFMS be accessed by anyone?

Ans:- Access to PFMS is restricted to authorized government agencies and departments for managing and tracking fund disbursements.

4. How does PFMS promote financial inclusion?

Ans :- By facilitating direct benefit transfers, PFMS helps bring marginalized sections of society into the banking system, promoting financial inclusion.

5. What future improvements can be expected in PFMS?

Ans:- Future improvements may include the integration of more advanced technologies for better security and transparency, and expansion into more areas of public finance management.

PFMS Full Form In HindiPFMS Full Form In HindiPFMS Full Form In HindiPFMS Full Form In HindiPFMS Full Form In HindiPFMS Full Form In HindiPFMS Full Form In HindiPFMS Full Form In HindiPFMS Full Form In HindiPFMS Full Form In Hindi

Related Post

Leave a Reply