इस आर्टिकल में लिखी गई moral story in hindi जिसे पढ़कर के बच्चे को बहुत ही प्रेरणादायक शिक्षा मिलेगी। moral story in hindi मैं बच्चों के लिए एक अलग ही प्रकार के इस कहानी को पढ़ने से शिक्षा मिलेगी।

जिसे पढ़कर के वह इस दुनिया में अच्छे से दुनिया को समझने में मदद मिलेगी। या कहानी जो आपने दादिया अपने माता-पिता के द्वारा जरूर सुनी हो गई वही कहानियों को इसमें लिखा गया है अगर आप इसमें सभी छोटी कहानी इन हिंदी को पढ़ते हैं तो आपको जरूर ही कुछ ना कुछ सीखने को मिलेगा।

Moral Story In Hindi


मूर्ख कुत्ता की moral story in hindi{Foolish Dog Story In Hindi} Moral Story


एक समय की बात है गोपालपुर में रामकिशन नाम का एक किसान रहता था। रामकिशन के पास कई गाय और बैल मौजूद थे। उसका पेशा यहीं था कि वह गाय का उपयोग मुख्यातः दूध के लिए, और बैल का उपयोग वह खेत में जुताई और माल ढोने के काम के लिए करता था। और वह अपने घर की रखवाली के लिए एक कुत्ता शेरू को पाला हुआ था।

वह कुत्ता थोड़ा मजाकिया अंदाज में रहता था। वह कई बार धूमता – धूमता वह गौशाला में जाता था। और जब भी जाता था। तो वह गायों को चारा खाते हुए देखता था। एक दिन कुत्ता ने सोचा चलता हूं आज इन लोगों को परेशान करता हूं। तब वह कुत्ता गायों के चारा पर जाकर बैठ गया।

Moral Story In Hindi
मुर्ख कुत्ता की कहानी

अब गायों ने उसे हटने के लिए कहा: “लेकिन वह हटने का तो दूर वह अपने जगह से हिला तक नहीं था। और ऊपर से उन सभी गायों को फिर से परेशान करने लगा। अब गायों ने तंग आकर इसकी शिकायत पास में खड़े बैल से कहा :”

तो फिर वह बैल नहीं आव देखा और ना ही ताव वह तुरंत उस कुत्ते को अपने पिछले पाव से जोर से लात मारी। अब कुत्ते को थोड़ा तेजी से चोट आ गया। और उस हड्डी पसली एक हों गया। और फिर कुर्ते ने कभी भी उस गौशाला के तरफ नहीं गया।

शिक्षा:–

इस छोटी कहानी इन हिंदी से हमें यह शिक्षा मिलती है कि हमें कभी भी किसी को बिना मतलब के ठेस नहीं पहुंचाना चाहिए। और हमें केवल अपने काम से काम रखना चाहिए।

रोचक कहानी इन हिंदी


बकरी और गदहा की moral story in hindi  Goat 🐐 and Donkey Small Story In Hindi


बहुत समय पहले की बात है। सोनपुर में एक धनाई नाम का एक किसान रहता था। और उसके पास एक बकरी और एक गधा था। वह किसान उस गधे से दिन भर काम करवाता था। और वही बकरी सिर्फ दूध देने के लिए काम आती थी।

वह किसान उस गधे से ज्यादा काम करवाता था इसलिए उसे खाना भी ज्यादा देता था। यह सब देखकर बकरी को बहुत ही बुरा लगता था। और एक दिन बकरी ने गधे की पिटाई करने की योजना तैयार किया।

छोटी कहानी इन हिंदी – रोचक कहानी इन हिंदी – Top 25+ Best Desi Kahani in Hindi
बकरी और गधा की कहानी

वह उस गधे के पास जाकर बोला :” गधे भैया ! कितना काम करते हों तुम ? कल तुम बीमार होने का दिखावा करना होगा। और इससे शायद तुम्हें एक दिन को आराम मिल जाए।

उस बकरी को ऐसा लग रहा था। की अगर गधा एक दिन ऐसा बीमारी का नाटक करेगा ? तो मालिक खूब अच्छे से इसकी भरपूर मात्रा में धुनाई करेंगे।

अगले दिन वह गधा उस बकरी की बात को मानते हुए एक ही जगह पर बीमार होने का नाटक करके पड़ा रह गया। वह किसान उसे वैसी हालत में देख वैध के पास ले जाने का निर्णय किया।

वैद्य ने कहा :” इस गधे को बकरी के दिल का काढ़ा बनाकर के पिलाना पड़ेगा। तब यह गधा पूरी तरह से ठीक हो जाएगा और आप इसका उपयोग कर सकते हैं।

फिर किसान ने अपने घर पर पहुंच करके उस बकरी को मार दिया। और फिर उसके दिल का काढ़ा बनाकर के उसे गधे को पिला दिया।

शिक्षा :–moral story in hindi

इस छोटी कहानी इन हिंदी से हमें यह शिक्षा मिलती है कि हम अपने जीवन में जैसी करते हैं हमें उसका फल वैसे ही मिलता है इसलिए कहा गया है कि जैसी करनी वैसी भरनी इसलिए आप अच्छे से व्यवहार कीजिए आपके साथ अच्छा ही हो।

छोटी कहानी ज्ञान


चार डाकू की moral story in hindi {Four Bandits of short story in Hindi}


एक दिन की बात है और अभी रात हो चली थी। और एक आदमी जंगल से जा रहा था। तभी चार डाकू ने अचानक उसके चारों तरफ से घेर लिया। और उन्होंने उसके सारे पैसे तथा उसके पास कीमती सभी चीजें को छीन लिए।

उसके बाद से वे डाकू उसे मारने ही वाले थे कि वह आदमी बोला :”तुम लोग मुझे मार नहीं सकते हो। मेरे गांव के पास एक ज्योतिषी रहता है उसने बताया है कि मुझे कोई एक अंधा आदमी ही मार सकता है।

छोटी कहानी इन हिंदी – रोचक कहानी इन हिंदी – Top 25+ Best Desi Kahani in Hindi
चार डाकुओं के छोटी कहानी

आदमी की इस बात को सुनकर के चारों डाकू हंसने लगे और बोले :”इसमें कौन सी बड़ी बात है। हम लोग अपनी आंखों पर पट्टी बांधकर के तुम्हारी हत्या कर देंगे।

और फिर सभी डाकुओं ने सभी सामान को वहीं पर पास में रख दिया और अपने अपने तालियों से अपने आप को बांध लिया। तभी या आदमी इस मौके का फायदा उठा कर के वहां पर पड़े सामान को लेकर के तुरंत भाग गया।

शिक्षा : –Moral Story In Hindi

इस छोटी कहानी इन हिंदी से हमें यह शिक्षा मिलती है कि जब भी आप मुसीबत में पड़े तो बैठकर के रोए नहीं उसके लिए आप अपने दिमाग का उपयोग करते हुए उस समस्या का समाधान खोजें दुनिया में कोई भी ऐसा समस्या नहीं है जिसका समाधान धरती पर उपलब्ध नहीं हो।

छोटी कहानी


क्रोध वाला दानव की Moral Story In Hindi{The Short Tempered Demon Story In Hindi}


बहुत समय पहले की बात है। प्रांतीय नामक जंगल में एक दानव रहता था। और वह दाना बहुत ही क्रोधी स्वभाव का था। वह बहुत ही छोटी –  छोटी बातों पर भी क्रोधित किया करता था। और उसकी बुरी आदत यह थी कि क्रोध में आकर के वह कुछ भी कर सकता था।

अभी मौसम गर्मी के चल रहे थे। और दानव को एक ख्याल आया कि क्यों ना हम पेड़ के ऊपर एक सुंदर सी घर बनाएं। और इसके लिए वह काम पर लग गया।

छोटी कहानी इन हिंदी – रोचक कहानी इन हिंदी – Top 25+ Best Desi Kahani in Hindi
क्रोधित राक्षस की कहानी

वह दानव  कड़ी मेहनत करके उस जंगल के सबसे बड़ी पेड़ के ऊपर उसकी शाखाओं पर एक बहुत ही सुंदर अपने लिए घर बना दिया।

वह घर बना लेने के बाद से सोचा कि मैं थोड़ा नदी में स्नान कर लेता हूं। उसके बाद फिर मैं अपने घर में प्रवेश करूंगा। अरवा नदी में स्नान के लिए निकल पड़ा। वह राक्षस ने नदी में स्नान किया और फिर अपने घर के लिए निकल पड़ा। तभी दुर्भाग्यवश उसके ऊपर से एक कबूतर उड़ता हुआ आया और उसके ऊपर बीट कर दिया।

अभी इस दानव को बहुत ज्यादा क्रोध आ गया ।और उस कबूतर को मारने के लिए उसका पीछा करने लगा। अब वह कबूतर अपना प्राण बचाने के लिए बहुत ही तेजी से उड़ने लगा। अब वह कबूतर उड़ते उड़ते थक गया था इसलिए एक पेड़ की ऊंची डाल पर जाकर के बैठ गया।

वह दानव बहुत ज्यादा क्रोध में था । उसने उस कबूतर को पेड़ पर बैठा हुआ देखा तो वह अपनी बाहों से उस पेड़ को उखाड़ करके फेंक दिया। और उसे होश ही नहीं आया कि मैं इसी पेड़ पर अपना घर भी बनाया हूं। अब वहां से कबूतर तो उड़ गया लेकिन उसका घर पूरी तरह से बर्बाद हो गया।

शिक्षा :Moral Story In Hindi

इस छोटी कहानी इन हिंदी से हमें यह शिक्षा मिलती है कि हमें कभी भी क्रोध नहीं करना चाहिए। और बिना सोचे समझे क्रोध करने का गंभीर परिणाम भुगतने को मिलता है । इसलिए आप कभी भी क्रोध नहीं करें।

छोटी-छोटी कहानी


घमंडी चूहा Moral Story In Hindi {The Arrogant Mouse Short Story In Hindi}


एक समय की बात है । रामनिवास नाम का एक घर था। जिसमें दो चूहा रहा करते थे। उन दोनों चूहों में एक चूहा मोटा – ताजा था और दूसरा दुबला और पतला था। उसमें से मोटा चूहा बहुत ही घमंडी था । जो हर बात –  बात पर इस पतले चूहे को हमेशा परेशान करते रहता था।

एक दिन की बात है दोनों में बहुत ही भयंकर लड़ाई हो गई। वे दोनों लड़ते-लड़ते अपनी छत पर पहुंच गए। और उसमें से मोटा चूहा ताकतवर था। उसने उस पतले चूहे को इतनी जोर से लात मारी की वह छत पर से लुढ़कते हुए सीढ़ियों से होते हुए जाकर के नीचे गिरा।

छोटी कहानी इन हिंदी – रोचक कहानी इन हिंदी – Top 25+ Best Desi Kahani in Hindi
घमंडी चूहा की कहानी

उस दुबले चूहे को नीचे गिरा करके मोटा चूहा अपने आप को बहुत ही ज्यादा शक्तिशाली समझने लग। और छत पर ही खुशी से नाचने लगा। तभी दूर पर बैठे हुए गिद्ध की नजर उस नाचते हुए मोटे चूहे पर पड़ गई। वाह गिद्ध उड़ते हुए आया और इस मोटे चूहे को अपने पंजे में दबाकर लेकर उड़ गया। और इसी घमंड के साथ-साथ उस  मोटे चूहे का अंत भी हो गया।

शिक्षा :Moral Story In Hindi

इस छोटी कहानी इन हिंदी हमें यह शिक्षा मिलती है कि हमें कभी भी खुद पर घमंड नहीं करना चाहिए नहीं तो वह हमें खुद ही बर्बाद कर देता है हर आदमी को दयालु और क्षमा युक्ति आदमी बनना चाहिए।

Moral Story In Hindi


चतुर पत्नी की Moral Story In Hindi{The Clever Wife Short Story In Hindi}


बहुत समय पहले की बात है लालपुर नामक गांव में घनश्याम नाम का एक किसान रहता था। और वह किसान हर रोज किसी न किसी मेहमान को अपने घर रात को दावत पर बुला लेता था। रोज-रोज मेहमानों के लिए खाना पका कर और उनकी आव – भाव कर इस बात से उसकी पत्नी तंग आ चुकी थी।

एक दिन की बात है। एक रात हुआ किसान एक आदमी को अपने घर पर दावत पर बुलाया था। उसकी पत्नी खाना तैयार करने लगी। उसने खीर के लिए किसान को दूध लेने के लिए बाजार भेज दिया।

छोटी कहानी इन हिंदी – रोचक कहानी इन हिंदी – Top 25+ Best Desi Kahani in Hindi
होशियार पत्नि की कहानी

उस किसान की गैर– मौजूदगी में उसके मेहमान घर पर आ गए। तभी वह मेहमान ने देखा कि आंगन में फूल माला से सजा करके सिलवटें रखा हुआ है।

मेहमान ने बड़े ही आश्चर्य से पूछा : “इस सिलबट्टे को किस लिए इतना सजा करके रखा गया है।

उस किसान की पत्नी ने उत्तर दिया ” यह मेरा पति ने रखा है। हमारे यहां मेहमानों को खाना खिलाने के बाद से इसी सिलबट्टे से मारने की रिवाज चली आ रही है।

उस किसान की पत्नी की यह बात सुनते हैं । मेहमान डर कर के वहां से भाग गया। जब वह किसान घर पर लौटा तो उसे पता चला कि मेहमान बिना खाना खाए ही घर से चले गए हैं। फिर उसके बाद से कोई भी मेहमान उस किसान के यहां दावत के लिए नहीं गया।

इस तरह से चालाकी करते हुए किसान की पत्नी ने रोज-रोज की इस समस्या से अपने को छुटकारा पाया।

शिक्षा :Moral Story In Hindi

इस छोटी कहानी इन हिंदी से हमें यह शिक्षा मिलती है कि हम किसी भी प्रकार की समस्या का समाधान बहुत ही बुद्धिमानी से निकाल सकते हैं इसीलिए हर समस्या को बुद्धिमानी के साथ  निपटने की कोशिश करना चाहिए।

नासमझ चूहा की Moral Story In Hindi { The Ignorant Rat Short Story In Hindi}


एक समय की बात है एक चूहा जन्म लेने के बाद से वह अपनी मां के साथ अभी बिल में ही था। चूहा जब थोड़ा बड़ा हुआ । तो वह बाहर घूमने के लिए अपनी अम्मा से अनुमति मांगा। उस चूहा की मां ने उसे जल्द ही आ जाने की नसीहत दे करके उसे बाहर जाने की अनुमति दे दिया।

अब वह नन्हा सा चूहा बाहर निकल कर के इधर – उधर धूमने लगा। उस नन्हा सा चूहा को घूमते – घूमते एक मुर्गी दिखाई पड़ी। उसकी सोच और कलगी देख  नन्हा चूहा ने सोचा “अरे बाप  रे यह कितना खतरनाक दिखता है। हमें इससे तो दूर ही रहना चाहिए। और वह डर करके वहां से दूर भाग गया।

छोटी कहानी इन हिंदी – रोचक कहानी इन हिंदी – Top 25+ Best Desi Kahani in Hindi
नासमझ चूहा की कहानी

कुछ दूर चलने के बाद से उसे एक बिल्ली दिखाई पड़ी। उसके नरम –  नरम और मुलायम बाल देख करके वह सोचने लगा । अरे भाई साहब यह कितनी सुंदर है। मुझे इससे तो दोस्ती करनी चाहिए।

वह छोटा सा नन्हा बच्चा उस बिल्ली से दोस्ती करने के लिए उसके पास जाने लगा। तभी वहां पर एक चूहा आया और उसे यह कहते हुए ले गया कि “बिल्ली बहुत ही ज्यादा खतरनाक होती है। तुम कभी भी उसके पास नहीं जाना नहीं तो वह मर करके तुम्हें खा जाएगी।

शिक्षा :–Moral Story In Hindi

इस छोटी कहानी इन हिंदी से हमें यह शिक्षा मिलती है कि हमें कभी किसी को भी उसके बाहरी रूप और रंग के अनुसार उसे जज नहीं करनी चाहिए । हमें उस पर पूरी जांच पड़ताल करने के बाद से विश्वास करनी चाहिए।

कुत्ता और गदहा की Moral Story In Hindi { The Dog and The Donkey of Short Story In Hindi}


बहुत समय पहले की बात है जवाहरपुर नामक गांव में सुमन नाम से मशहूर एक धोबी रहता था। और उसके पास एक गधा था। जो गधा घर से नदी तक और नदी से घर तक कपड़े का आवागमन के लिए सेवा का काम करता था। और वह अपने घर की रखवाली के लिए धोबी ने एक कुत्ता को भी पाल रखा था।

वह गधा प्रतिदिन देखता था कि जब भी धोबी घर आता है । तो वह कुत्ता उसके चारों तरफ दुम हिलाते हुए उसके आसपास घूमने लगता है। और कभी-कभी उसका पैर चाटने लगता है। और धोबी भी खुश हो जाता है और उसके साथ खेलने लगता है।

छोटी कहानी इन हिंदी – रोचक कहानी इन हिंदी – Top 25+ Best Desi Kahani in Hindi
कुत्ता और गदहा की Moral Story In Hindi

यह बात गधे को हजम नहीं हो रही थी । और वह सोचा कि क्यों ना मैं भी ऐसा ही करूं । तो धोबी मेरे साथ भी खेलेगा।

एक दिन की बात है । धोबी जब घर आया तो वह गधा उसके पास जाकर के दुम हिलाने लगा। और वह गधा भी उस धोबी को चाटने लगा। यह देख कर के धोबी को गुस्सा आ गया। उसने अपनी लाठी उठाई और उस गधे की खूब धुनाई किया।

शिक्षा :–

इस छोटी कहानी इन हिंदी से हमें यह शिक्षा मिलती है कि हम किस काम के लिए हैं हमें उसी तरह से व्यवहार करना चाहिए हमें किसी दूसरे की नकल नहीं करनी चाहिए नहीं तो उसका परिणाम हमेशा बुरा ही होता है।

कद्दू खाने वाले लोमड़ी की Moral Story In Hindi{ The Fox 🦊 Who Ate A Pumpkin Short Story In Hindi}


बहुत समय पहले की बात है किमालर नाम की जंगल में एक लोमड़ी रहती थी। और वह कुछ दिनों से भूखी थी। वह पूरी दिन भटकती रहती थी । लेकिन उसे शिकर नहीं मिलता था। लेकिन तभी उसे एक खेत दिखाई पड़ा। तो वह लोमड़ी बहुत ही चला कि से उस खेत में घुस गई।

उस खेत में बहुत सारे कद्दू लगे हुए थे। वह लोमड़ी  बहुत भूखी थी । इसलिए वह एक कद्दू को खाने लगी। तभी उसी समय उस खेत का किसान वहा पर आ गया। जब उसके सामने लोमड़ी को कद्दू खाते हुए देखा, तो वह बहुत क्रोधित हुआ।

छोटी कहानी इन हिंदी – रोचक कहानी इन हिंदी – Top 25+ Best Desi Kahani in Hindi
कद्दू खाने वाली लोमड़ी की कहानी

वह लोमड़ी उसकी शान से क्षमा याचना करने लगी। लेकिन किसान ने इस बात पर उसे क्षमा नहीं किया। और उसने लोमड़ी के पुंछ में आग लगा दिया।

लोमड़ी के पूछ में आग लग जाने के बाद से वह लोमड़ी झटपट आने लगी और इधर-उधर भागने लगी। ग्वाल उमड़ी भागते हुए हैं पास के गेहूं के खेत में घुस गई। वह खेत भी उसी किसान का था। उस लोमड़ी के पूछ के आग से उस गेहूं के खेत में आग लग गया । और पूरा जल करके राख हो गया।

अब वह किसान लोमड़ी के पूंछ में आग लगाने का पछतावा करके बहुत ही दुखी हुआ और बोला कि मुझे इसकी सजा मिल गई मुझे ऐसा नहीं करना चाहिए था किसी भी भूखे आदमी को खाना देना चाहिए।

शिक्षा:–Moral Story In Hindi

इस छोटी कहानी इन हिंदी से हमें यह शिक्षा मिलती है कि छोटी-छोटी गलतियों पर हम उन्हें क्षमा कर सकते हैं अगर हम कोई सजा देंगे तो यह उचित नहीं होता है और उसका परिणाम गलत ही होता है।

मक्के की दाना Moral Story In Hindi {The Gain Of 🌽 Corn Short Story In Hindi}


जलालपुर गांव में एक किसान था। जो मुर्गियों को पाला हुआ था। एक शाम की बात है दो मुर्गी या बाड़े में धूम रही थी। अचानक उन दोनों की नजर मक्के के दाने पर पडा । दोनों मुर्गियां उस दाने को उठाने के लिए बहुत ही जोर से भागी। अब दोनों मुर्गियां एक दूसरे के सामने थी। वह दोनों मुर्गियां उस मक्की के दाने पर अपना अपना हक जताने की कोशिश करने लगी।

पाली मुर्गी ने कहा ” यह मक्का का दाना मेरा है। इस पर मेरा ही हक है।

छोटी कहानी इन हिंदी – रोचक कहानी इन हिंदी – Top 25+ Best Desi Kahani in Hindi
मक्के की दाना की Moral Story In Hindi

दूसरी मुर्गी भी इस बात पर राजी नहीं हुई । वह भी झगड़ा करने लगी की नहीं यह दान मक्के का मेरा है।

इस बात को लेकर के वह दोनों आपस में भिड़ गए। कोई किसी से कम नहीं था। अब उनकी लड़ाई धीरे-धीरे बढ़ती गई। वे दोनों लड़ने में इतना व्यस्त हो गए कि उनका ध्यान उस मक्की के दाने पर नहीं रहा ।और वे लड़ते-लड़ते कुछ दूर हट गए।

वही पास के पेड़ पर एक कौवा इन दोनों की लड़ाई बहुत ही देर से देख रहा था। उसने इस मौके का फायदा उठाते हुए मक्के के दाने को लेकर के उड़ गया।

शिक्षा :–Moral Story In Hindi

इस छोटी कहानी इन हिंदी हमें यह शिक्षा मिलती है कि हमें आपस में लड़ाई से किसी दूसरे को फायदा होता है इसलिए हमें आपस में कभी भी लड़ाई नहीं करनी चाहिए हमें जो भी मिलता है उसे मिल बांट करके खाना चाहिए।

कबूतर कौवों के बीच में Moral Story In Hindi {The Pigeon 🐦 Among Crows Short Story In Hindi}


बहुत समय पहले की बात है। सहरसा नाम का एक गांव था जिसमें सुरेंद्र चंद्र नाम का एक किसान रहता था ।जो अपने खेत में मक्का बोया हुआ था। और उसकी फसल पीछे सभी सालों की अपेक्षा इस बार थोड़ा अच्छी लगी हुई थी।

लेकिन दुख की बात यह थी कि रोज का ओके ढूंढा करके मक्के की खेत की बर्बादी करने लगे। यह देख कर के किसान बहुत ज्यादा परेशान हो गया। वह किसान ने को को भगाने के लिए बहुत ही ज्यादा कोशिश किया। लेकिन उसकी हर तरकीब असफल रही।

छोटी कहानी इन हिंदी – रोचक कहानी इन हिंदी – Top 25+ Best Desi Kahani in Hindi
कबुतर और कौआ की कहानी

एक दिन की बात है वह किसान सुबह सुबह उठ करके ही अपने खेत में चला गया। और देखा कि अभी सारी कौवे मेरे मक्के के खेत में एक साथ धावा बोलने के लिए तैयार बैठे हुए हैं। तभी अचानक एक कबूतर उड़ता हुआ उस कौवों के पास आया और कहा :”मित्रों ” क्या मैं भी आप लोगों के साथ उस मक्के के खेत में चल सकता हूं।

सभी को ने कहा ठीक है और उसे अपने साथ ले कर के उस खेत में चले गए।

उस दिन वह किसान उन सभी कौवा को पकड़ने के लिए मक्के के खेत में जाल बिछाया हुआ था। जैसे ही वे सब उस खेत में उतरे, उस किसान के बिछाए जाल में फस गया। साथ ही कबुतर भी फस गया।

किसान जब उन कौवों को मारने के लिए आया, तो इस जाल में कबुतर को भी फसा हुआ पाया। किसान ने कहा ” तुमने गलत संगति कर लिया। अब तुम्हें भी इनका फल भुगतना पड़ेगा। और उन सभी कौवों के साथ कबूतर भी मारा गया।

शिक्षा :”Moral Story In Hindi

इस छोटी कहानी इन हिंदी से हमें क्या शिक्षा मिलती है कि हमें गलत संगति नहीं करनी चाहिए गलत संगति के कारण हम भी गलत संगत में पड़ जाते हैं ।और उसका नतीजा बहुत ही बुरा होता है।

व्यापारी और चोर Moral Story In Hindi {The Merchant and The Thief Short Story In Hindi}


एक दिन की बात है । मुंबई के बांद्रा में दो व्यक्ति पहुंचे थे जिसमें से एक चोर था और एक व्यापारी था। और उस समय बांद्रा में एक ही कमरा खाली था। मकान मालिक ने उन दोनों को एक ही कमरे में ठहरने के लिए कह दिया।

उस मकान में पहुंचने के बाद से चोर को यह जानकारी मिला कि इस व्यापारी के पास अनमोल हीरा है। उसने उस व्यापारी के सो जाने के बाद उसके अनमोल हीरा चुराने का निश्चय किया।

छोटी कहानी इन हिंदी – रोचक कहानी इन हिंदी – Top 25+ Best Desi Kahani in Hindi
व्यापारी और चोर की कहानी

जब व्यापारी सो गया तो चोर ने उस व्यापारी का सारा जगह छान मारा,, लेकिन उसे कहीं भी हीरा नहीं मिला।

अगली सुबह जब वह व्यापारी उठा तो चोर ने कहा “हेलो श्रीमान मैं एक चोर हूं “और मैं रात में आप के सो जाने के बाद से मैंने आपके वह हर सभी जगह जान मारे लेकिन कहीं पर भी आपके अनमोल हीरा नहीं मिला। आखिरकार आप उस हीरा को कहां पर छुपाए थे।

वह व्यापारी ने मुस्कुरा कर के जवाब दिया कि मैंने उस अनमोल हीरे को मैंने तुम्हारे उस थैले में छुपा दिए थे। मुझे यह पता था कि तुम मेरे सभी जगह में तलाश ओके लेकिन तुम अपने थैले को नहीं चला सकते हो। इसलिए मैं तुम्हारे ही थैली में डाल दिया था और मेरे चारों तरफ खोजने के बाद भी तुम्हें वह हीरा नहीं मिला फिर वह व्यापारी ने उस चोर के पहले से अपना हीरा ले लिया और फिर वह वहां से चले गए।

शिक्षा : —Moral Story In Hindi

इस छोटी कहानी इन हिंदी से हमें यह शिक्षा मिलती है कि बेईमानी से बचने के लिए हमें चतुराई का सहारा लेना चाहिए तभी हम किसी भी मुश्किल समय में उस पर काबू पा सकते हैं।

शेर और आम का पेड़ Moral Story In Hindi{The lion 🦁 And 🌲🌴 trees of Mango Short Story In Hindi}


रामलीला गंज में पंचवटी नाम का एक जंगल था। वह जंगल बहुत ही घना था और उसमें कई पेड़ थे। और उस जंगल में बहुत सारे जानवर भी रहते थे। उन सभी पेड़ को अपने आसपास इधर-उधर जानवरों को भागदौड़ करना पसंद नहीं था।

सबसे ज्यादा उन्हें शेर से समस्या थी। जब शेर दहाड़ता था तो इन पेड़ों की शांति भंग हो जाती थी। वे सभी जंगल के पेड़ चाहते थे ,,यहां से सभी जानवर भाग जाए।

छोटी कहानी इन हिंदी – रोचक कहानी इन हिंदी – Top 25+ Best Desi Kahani in Hindi
शेर और जंगल का पेड़ की कहानी

एक दिन की बात है। सभी पेड़ों ने एक योजना बनाई और सभी जोर-जोर से हिलने लगे। यह देख कर के जंगल के सारे जानवर इधर-उधर भागते हुए जंगल से भाग गए। और उसमें उपस्थित शेर भी वहां से चला गया यह देख कर के सभी पेड़ बहुत ही ज्यादा खुश हुए।

अभी यह खबर गांव के पास में पहुंचा की जंगल के सभी जानवर गांव में आने लगे हैं। लोग जानवरों से और जंगल में उपस्थित शेर की वजह से उस जंगल में पेड़ की कटाई के लिए नहीं जाते थे।

इसकी सूचना मिलने के बाद से धीरे-धीरे गांव के सभी लोग जंगल की कटाई करने के लिए कुछ पेड़ों के पास पहुंच गया। और धीरे-धीरे करके सभी लोगों ने पूरी जंगल के पेड़ों को काट दिया।

शिक्षा :—Moral Story In Hindi

इस छोटी कहानी इन हिंदी से हमें यह शिक्षा मिलती है कि हमें सभी लोगों के साथ मिलजुल कर रहना चाहिए अगर कोई आदमी अकेला होगा तो उसे कोई भी जल्द मार सकता है लेकिन बहुत सारे लोग एक साथ होंगे तो उन्हें कोई जल्दी नहीं मारता है इसलिए परिवार के हर सदस्य को मिल जुल कर रहना चाहिए और अपनी फैमिली को आगे बढ़ाने में सहयोग करना चाहिए।

कुम्हार के खड़े कीMoral Story In Hindi { The Potter,s Pot 🍯Of Short Story In Hindi}


बिलासपुर के पड़ोली गांव में चंद्रशेखर नामक एक कुम्हार रहता था। इसका सबसे अच्छा काम मिट्टी के घड़े बनाकर के बाजार में बेचता था। उसके द्वारा बनाए गए घड़े कुछ कमजोर होते थे जिसके कारण जल्द ही टूट जाते थे।

उसके ग्राहक जल्दी उसके घड़े टूट जाने की शिकायत बार-बार किया करते थे। अब बार-बार इन शिकायतों को सुनकर के कुम्हार तंग आ चुका था।

छोटी कहानी इन हिंदी – रोचक कहानी इन हिंदी – Top 25+ Best Desi Kahani in Hindi
कुम्हार के कमजोर घड़े की कहानी

वह एक दिन अकेले में बैठा हुआ था। फिर उसने भगवान से प्रार्थना किया   ” हे भगवान ” मेरे द्वारा बनाए हुए सभी घरों को इतना मजबूत कर दो, कि वह जिंदगी में कभी भी नहीं टूटे।

उसके बाद से अचानक उस कुम्हार के द्वारा बनाए हुए सभी घड़े इतने मजबूत होने लगे, कि वह अब टूटते ही नहीं थे। और इसका परिणाम यह देखने को मिला कि अब उसके पास उसका ग्राहक आना ही बंद  कर दिए थे। जिसके कारण उसकी धंधा में मंदी चलने लगा।

तब  कुम्हार इस चिंता में बैठा हुआ था । और फिर से आग्रह किया भगवान से कि हे भगवान पहले में जैसा घड़ा बनाता था आप वैसा ही कर दीजिए भगवान ने मुस्कुराते हुए जवाब दिया । ” तथास्तु ” जैसी तुम्हारी इच्छा।

शिक्षा :–Moral Story In Hindi

इस छोटी कहानी इन हिंदी से यह शिक्षा मिलती है कि भगवान हमें जितना देत है हमें उतना ही में खुश रहने की कोशिश करनी चाहिए।

चतुर राजा की Moral Story In Hindi {The Clever 👑 King Short Story In Hindi}


सन,, 542 ईसवी की बात है। एक राज्य में चंद्र सिंह नामक एक बहुत ही चतुर राजा राज्य करता था। वह राजा चतुर के साथ-साथ इतना बुद्धिमान था कि किसी भी समस्या को हुआ तुरंत हल कर देता था। उस राजा की चर्चा दूर-दूर राजू तक फैली हुई थी।

कई पड़ोसी राज्य के राजा लोग उसकी इस बुद्धिमानी से ईर्ष्या करते थे। वे सभी राजा इसकी बुद्धिमानी को नीचा दिखाने के लिए एक प्रयोजन करते हैं। लेकिन सभी तरह की प्रयोजन और पत्रों में वे असफल हो जाते हैं।

छोटी कहानी इन हिंदी – रोचक कहानी इन हिंदी – Top 25+ Best Desi Kahani in Hindi
चतुर राजा की कहानी

एक बार की बात है पड़ोसी राजा के बेटी राजकुमारी  सुभावती के कानों में राजा चंद्र सिंह के बुद्धिमानी के चर्चों के बारे में जानकारी मिली। तब उसने भी उनकी परीक्षा लेने की इच्छा जाहिर किया। उसने अपने दूत के द्वारा दो फूल राजा चंद्र सिंह को भिजवा दिया। और साथी उसके एक पत्र भी था।

उस पत्र को राजा चंद्र सिंह ने पढ़ा उसमें लिखा था कि “महाराज” मैंने आपके बुद्धिमानी के चर्चे बहुत ही सुने हैं। तो मेरे द्वारा भेजे गए दो फूलों में आप असली और नकली  फूलों की पहचान कीजिए। और इस बात का आपको ज्ञात होना चाहिए कि इसे छूना नहीं है।

राजा ने बड़े ही ध्यान से उन दोनों फूल को देखा तो पाया कि दोनों तो एक ही जैसे लग रहे हैं। और इनमें कोई भी बदलाव मालूम नहीं होती है। कुछ देर भी विचार करने के बाद से राजा ने अपने सेवकों को अपने महल की खिड़कियों को खोल देने के लिए कहा  ”

सेवकों ने महल की खिड़कियों को खोल दिया। पुश महल की कई खिड़कियां राजा के शाही बगीचे के तरफ ज्यादा खिड़कियां खुली हुई थी। कुछ नहीं देर में महल में मधुमक्खियां प्रवेश कर गई। अब पड़ोसी राज्य के दूत के हाथों में दोनों मालाओं में से एक माला पर मधुमक्खियां बैठ गई।

यह देख कर के चंद्र सिंह समझ गए कि वही असली फूल वाला माला है। उन्होंने उस फूल की तरफ संकेत करते हुए कहा कि वही असली फूल है और राजा का उत्तर भी सही निकला। और फिर से दरबार में राजा के प्रशंसा होने लगी।

दूत ने वापस जाकर के राजकुमारी सुभावती को चंद्र सिंह द्वारा बताए गए माला के बारे में उत्तर बताया। अब राजकुमारी भी उनकी बुद्धिमानी पर बहुत ही ज्यादा खुश हुई। और अपने पिता से का करके उनसे शादी करने की इच्छा प्रकट किया।

आप कुछ ही दिन में राजा चंद्र सिंह और राजकुमारी सुभावती का विवाह संपन्न हुआ। फिर उन दोनों की शादी हो गई और वे लोग अपनी जीवन खुशी के साथ बिताने लगे।

शिक्षा :—Moral Story In Hindi

इस छोटी कहानी इन हिंदी से यह शिक्षा मिलती है कि बुद्धिमानी के द्वारा हर प्रश्न का हल निकल सकता है। और साथी सभी समस्याओं का इससे निराकरण किया जा सकता है। इसलिए जब भी कोई समस्या या प्रश्न हो अपनी बुद्धिमानी का उपयोग करते हुए उस पर सफलता प्राप्त करनी चाहिए।

सुई की पौधा Moral Story In Hindi


बहुत समय पहले की बात है मारवाड़ में एक जंगल था जहां पर दो भाई रहते थे। उन दोनों भाइयों में बड़ा भाई अपने छोटे भाई के प्रति थोड़ा धूर्त था। और मौका पा करके कभी-कभी उसके सभी खाना खा जाता था। और हमेशा उसके अच्छे-अच्छे कपड़े ले लेता था।

छोटी कहानी इन हिंदी – रोचक कहानी इन हिंदी – Top 25+ Best Desi Kahani in Hindi
सुई का पौधा की कहानी

एक दिन की बात है बड़ा भाई बाजार में  बेचने के लिए , कुछ लकड़ी को इकट्ठा करने के लिए वह जंगल में गया हुआ था। जैसे ही वह एक पेड़ के एक शाखा को काटकर के दूसरी शाखा की तरफ बढ़ा। तभी उसकी मुलाकात एक जादुई पेड़ से हुआ। उसने उससे कहा ” हे प्रिय महाशय ” कृपया करके आप मेरी इस शाखाओं को मत काटिए।

पेड़ ने कहा कि यदि आप मुझे नहीं काटते हैं । तो मैं आपको अपना सुनहरा सेव दूंगा। बड़ा भाई मान गया लेकिन उस सेव की संख्या से वह निराश था। अब धीरे-धीरे लालच ने उस पर काबू पा लिया था। तब उसने उस पेड़ को डराया कि अगर उसे और सेव नहीं दिया तो वह उसकी पूरी शाखा काट देगा।

जादुई पेड़ ने सेव देने की बजाय उस पर हजारों की संख्या में सुई गिरा दिया। तभी बड़ा भाई दर्द से परेशान हुए वहीं जमीन पर गिर पड़ा। अब शाम का समय हो गया था और धीरे-धीरे सूर्य भी ढलने लगा था।

अभी तो छोटा भाई निराश हो गया था और चिंता में था इसलिए बड़े भाई को खोजने के लिए निकल पड़ा। तभी उसने देखा कि मेरे भाई के ऊपर बहुत सारे सुईया चूहे हुई है। वह अपने बड़े भाई के तरफ दौड़ा और बड़े ही सावधानी से सभी सूईयों को उनके शरीर से निकाल दिया।

शरीर से सारी सुई निकलने के बाद से बड़े भाई ने अपने छोटे भाई से अपने सभी बुरा व्यवहार करने की क्षमा मांगी बोला कि मुझे माफ कर दो मैंने तुम्हारे साथ बहुत ही बुरा व्यवहार किया है। और फिर बड़ा भाई ने एक अच्छा आदमी बनने का निश्चय किया।

अब इधर पढ़ने बड़े भाई के बदलाव को देख करके बहुत ही खुश हुआ और उसे बहुत सारे सुनहरे सेव को दे दिया। जिससे उन्हें कभी भी किसी भी चीज की कमी महसूस नहीं हुआ।

शिक्षा :–Moral Story In Hindi

इस छोटी कहानी इन हिंदी से हमें यह शिक्षा मिलती है कि मनुष्य को हमेशा नरम और दयालु होना चाहिए। अगर कोई भी मनुष्य दयालु होता है तो वह हमेशा सुखी और समृद्धि महसूस करता है।

एक चतुर गिनती Moral Story In Hindi


एक समय की बात है । अकबर ने अपनी अदालत में एक प्रश्न रखा। उस सभा सभा में उपस्थित सभी के दिमाग को चकरा दिया था। वे सभी लोग जवाब खोजने की कोशिश करेगी रहे थे कि तभी बीरबल वहां पर आ गए। और जो भी समस्या चल रही थी ।उससे जानने की कोशिश किया। फिर वे सभी लोगों ने अकबर के द्वारा पूछे गए सवाल को पूरी विस्तार से बीरबल को बताया।

छोटी कहानी इन हिंदी – रोचक कहानी इन हिंदी – Top 25+ Best Desi Kahani in Hindi
नगर में कुल कितने कबुतर है।

अकबर के द्वारा पूछा गया था। कि हमारे नगर में कुल अभी कितने कबूतर मौजूद हैं।

इस समय बीरबल ने तुरंत मुस्कुराया और फिर राजा अकबर के पास गया और यह घोषणा की की हमारे नगर में कुल ” तैतीस हजार तीन सौ छप्पन ” कबूतर है। जब उनसे इस बात की पुष्टि किया गया कि आपको इस जवाब का उत्तर कैसे मिला।

तब बीरबल ने बड़े ही चतुराई से जवाब दिया कि महाराज आप अपने आदमियों को नगर में भेज करके सभी कबूतरों को गिनना सकते हैं सभी की संख्या इतना ही आएगी। यदि इन कबूतरों की संख्या बढ़ती है तो यह निश्चित है कि बाहर शहरों से इन कबूतरों के रिश्तेदार जरूर मिलने आए होंगे।

और यदि कम होती है तो आप समझ लीजिएगा कि नगर के उपस्थित कबूतर बाहर शहर में अपने रिश्तेदार से मिलने गए हुए हैं। इस जवाब से प्रसन्न होकर के अकबर ने बीरबल को हीरे और माणिक के अपने गला से माला उतार कर के उन्हें प्रदान किया।

शिक्षा :–Moral Story In Hindi

इस छोटी कहानी इन हिंदी से हमें यह शिक्षा मिलती है कि अपने प्रश्न का उत्तर देने से पहले हमें इस बात की पूरी पुष्टि होनी चाहिए उत्तर की पुष्टिकरण होना ।उतना ही महत्वपूर्ण है जितना कि उसका उत्तर देना।

भेड़िया आया ……भेड़िया आया Moral Story In Hindi


एक लड़का था जो कि बहुत ही ज्यादा नटखट हो गया था। उसके पिता भेंड चढ़ाने का काम किया करते थे। उन्होंने कहा कि तुम तो अभी इतने भी बड़े हो चुके हो की तुम आराम से इन सभी भेंड का ख्याल आराम से कर सकते हो। अब वह लड़का रोज उन सभी भेंड को जंगल में ले जाता था और उन सब की हमेशा निगरानी करता था।

छोटी कहानी इन हिंदी – रोचक कहानी इन हिंदी – Top 25+ Best Desi Kahani in Hindi


देखते ही देखते हुए सभी भेड़ बड़े हो चुके थे । और उनके शरीर पर अब बड़े-बड़े ऊन भी आ गए थे। लेकिन वह इस बात से दुखी था । कि वह इस उबाऊ भेड़ों को निगरानी नहीं रखना चाहता था। और उसके बाकी अपने दोस्तों के साथ खेलना और उनके साथ भागदौड़ ना उसकी या बहुत ही इच्छा करते थे।

इसलिए उसने सोचा कि आज जंगल में चलते हैं भेड़ों को चराने के लिए लेकर के और वहां पर कुछ मजेदार चीजें करते हैं। फिर वह जंगल में गया और चिल्लाने लगा कि भेड़िया आया …… भेड़िया आया……..।

इससे पहले कि भेड़िया किसी भी भेड़ को क्षति पहुंचाए । उसे बचाने के लिए गांव के सभी लोग और खेत में काम करने वाले लोग हल और कुदाल ले करके उस जंगल में उसके पास पहुंचे। जब उन्होंने देखा कि वहां पर कोई भेड़िया नहीं है। तब सभी लोग उसे डांटते और फटकार लगाते हुए वहां से चले गए। और सभी लोगों से बोल रहे थे तुमने हमारी समय को बर्बाद किया है। और तुम बिना वजह से बार-बार हम लोगों को परेशान भी कर रहे हो।

लेकिन अगले दिन फिर से वह लड़का जंगल पहुंचा और फिर से चिल्लाने लगा भेड़िया आया …भेड़िया आया…. यह सुनकर के गांव के कुछ लोग और खेत में काम करने वाले कुछ लोग अपनी कुदाल लेकर की फिर से वहां पहुंचे वह लड़का फिर उन लोगों को मजाक बनाया और हंसने लगा। यह लो फिर से गुस्सा हुए और वापस चले गए।

लेकिन दूसरी दिन वाला लड़का एक पहाड़ की चोटी पर गया और वहां पर अपनी भेड़िया को चारा रहा था। तभी अचानक सामने उसके भेड़िया आ गई और उसके भेड़ों पर हमला कर दिया ।और फिर से वह चिल्लाने लगा भेड़िया आया …

भेड़िया आया … इसके इस बात को सुनकर के लोगों को विश्वास नहीं हुआ और वे लोग समझ गए कि आज या फिर हम लोगों को मजाक उड़ा देगा और या ऐसे ही कहता है। और वहां पर उसे बचाने के लिए कोई नहीं आया। पाली बिना वजह से भेड़िया चलाने पर वह लोग उसकी सहायता नही किए लेकिन आज नहीं किए तो उसने अपनी पांच भेड़ों को खो चुका था।

शिक्षा :–Moral Story In Hindi

इस छोटी कहानी इन हिंदी से हमें यह शिक्षा मिलती है कि लोगों का ध्यान आकर्षित करने के लिए हमें झूठी कहानियां नहीं बनानी चाहिए। अगर आप ऐसा करते हैं तो जब आपको वाकई उस चीज की जरूरत होगी तो आप उस चीज को पूरी तरह से खो चुके होंगे।

परी और अमीर आदमी Moral Story In Hindi


एक समय की बात है। राधागंज़ में एक राजश्री नाम का एक बहुत ही लालची और अमीर आदमी रहता था। वह एक दिन अपने पैसों की हिसाब लेने के लिए कर्जदार के घर पर जा रहा था। तभी अचानक उसकी मुलाकात एक परी से हो गया।

छोटी कहानी इन हिंदी – रोचक कहानी इन हिंदी – Top 25+ Best Desi Kahani in Hindi
परी और लालची आदमी की कहानी

दुर्भाग्य की बात है, उस परी की बाल वहां पर उपस्थित एक पेड़ के शाखाओं में अटक गया था। और वह काफी परेशान थीं। परी को देख कर उस अमीर आदमी के को एक बात का एहसास हुआ। की यहीं सही मौका हैं। कुछ धन दौलत प्राप्त करने समय इस समय का फायदा उठाते हुए वह अमीर लालची आदमी ने उस परी से कहा कि अगर मैं आपको मुक्त करता हूं। लेकिन इसके बदले में मेरे एक इच्छा की पूर्ति करनी होगी।

वह परी के सामने अपनी प्रस्ताव में कहा “मैं जिस किसी भी चीज को अपने हाथों से स्पर्श करू। वह सोना का बन जाए। परी की सहायता किया था। इस लिए उसने इस लालची आदमी की इच्छा को पूरी कर दिया।

अब यह आदमी किसी भी चीज और पत्थर को स्पर्श करता था। वह तुरन्त ही सोना में बदल जाता था। इस वरदान को पाकर वह बहुत ही खुश हुआ। और वह अपने पत्नी और बेटी को यह बताने के लिए घर पहुंचा।

लालची आदमी के घर पहुंचते ही उसकी प्यारी बेटी ने अपने पापा की स्वागत करने के लिए उनके पास दौड़ा। लेकिन वह आदमी ने जैसे ही झुक कर अपनी बेटी को उठाना चाहा। तभी अचानक इसकी बेटी सोने की मूर्ती में बदल गई। अब उसे इस बड़ी भूल के लिए पछतावा हो रहा था।

भोजन के लिए गया तो वह भी सोने में बदल गया। और यह परेशान होकर फिर उसी जंगल में गया और परी से यह प्रार्थना करने लगा कि कृपया कर मुझे इस वरदान से मुक्ति दिला दीजिए। फिर वहा पर परी प्रकट हुई । और अपनी वरदान को वापस ले लिया। और यह आदमी फिर बहुत खुश हुआ।

शिक्षा :– इस छोटी कहानी इन हिंदी से हमें यह शिक्षा मिलती है कि हमें कभी भी लालच नहीं करना चाहिए लालच बुरी भला है। और हमें किसी की मजबूरी का फायदा नहीं उठाना चाहिए।

दूध वाली औरत


एक समय की बात है। धूपपुर गांव में शीला नाम की एक महिला रहती थी। वह अपनी जीवन यापन दूध को बेच करके किया करती थी। एक दिन की बात है। वह तुरन्त ही गाय का दुध निकली थीं। और अब उसके पास बाल्टी भर ताजा मलाईदार दूध था।

छोटी कहानी इन हिंदी – रोचक कहानी इन हिंदी – Top 25+ Best Desi Kahani in Hindi
दूध वाली औरत की कहानी

उसने निश्चय किया कि मैं इस सभी दूध को बाजार में बेच दूंगा। इसलिए दूध लेकर वह बाजार के लिए चल पड़ी। और वह पूरी रास्ते भर दूध और उससे मिलने वाले पैसे के बारे में विचार करती रही।

वह इस बात को सोच रही थी। की इस दूध के पैसों से मैं मुर्गी को खरीदूंगी। फिर मुर्गिया अंडे देगी। फिर उससे मुझे और भी ज्यादा मुर्गी मिलते जाएगी। और फिर वे सभी जो अंडे देगी। मैं उन सभी को बाजार में बेच करके पैसे कमाऊंगा। फिर मैं अपने उस ऊंची पहाड़ी पर घर बनाऊंगा। और मेरे सभी पड़ोसी मुझसे जलेंगे।

वे लोग फिर मुझे अपनी मुर्गी का व्यवसाय मुझे बेचने के लिए बोलेंगे। और फिर मैं अपनी मुंडी को हिलाते हुए मना कर दूंगी। ऐसा कहते हुए उसने अपनी सर को हिलाए। और अभी उसने अपने दूध के बाल्टी को गिरा दिया। अब सारा दूध जमीन पर गिर गया था और इसकी सारी सपने भी टूट गया।

शिक्षा :–Moral Story In Hindi

इस छोटी कहानी इन हिंदी से हमें यह शिक्षा मिलती है कि अनिश्चित चीजों के आधार पर योजना नहीं बनाई जाती हैं।

जब प्रतिकूल परिस्थितियां परेशान करती है छोटी कहानी इन हिंदी


यह कहानी हमें यह बताती है कि कैसे विभिन्न प्रकार के लोग अलग –  अलग परिस्थितियां का सामना अलग – अलग तरह से करते हैं। एक दिन की बात है। सुशीला के पिता ने तीन प्यालों में पानी गर्म करने के लिए रखा हुआ था।

उन्होने ने एक प्याले में आलू डाला। तीसरे में चायपत्ती डाल दिया। लेकिन दूसरे में उन्होने एक अंडा को डाला था। तभी अचानक उनकी फोन की रिंग बजी। उन्होने सुशीला को दस मिनट उन सभी पर निरंतर नजर रखने के लिए बोला ”

दस मिनट बाद उन्होने आलू और अंडा को छिलने तथा चायपत्ती को छानने के लिए बोला। इस बात पर उसके पिता ने उसे समझाते हुए कहा “यह तीनों वस्तु सामान परिस्थिती में पड़े थे। लेकिन फिर तुम खुद देखो उनलोग पर अलग अलग प्रभाव पड़ा है। आलू अब नरम हो गया है। अंडा अब कड़ा हो गया है। तथा चायपत्ती ने तो पानी का रंग ही बदल दिया।

हम सब लोग भी इस परिस्थिती के समान है। जब कोई प्रतिकूल परिस्थिति आती है तो हम भी ठीक इन सभी की तरह ही व्यवहार करते हैं।

शिक्षा :–

इस छोटी  कहानी इन हिंदी से हमें यह शिक्षा मिलती है कि यह बात हम पर निर्भर करता है कि हम इन परिस्थितियों का सामना कैसे करेंगे।

घमंडी गुलाब की Moral Story In Hindi


एक समय की बात है। एक गुलाब था जिसे अपनी सुन्दरता पर बहुत ही ज्यादा घमंड था। लेकिन वह एक बात से हमेशा परेशान रहता था ।कि कैक्टस के बगल में जन्म लिया था। वाह गुलाब रोज उस कैक्टस को देख करके उसका मजाक उड़ाया करता था कि इसका सूरत बहुत ही बदसूरत है।

छोटी कहानी इन हिंदी – रोचक कहानी इन हिंदी – Top 25+ Best Desi Kahani in Hindi
घमंडी गुलाब की कहानी

लेकिन वह कैक्टस बेचारा हमेशा शांत भाव में रहता था। उस बगीचे में उपस्थित सभी पौधों ने उस गुलाब को बहुत ही समझाने का प्रयास किया। लेकिन उसे अपनी इस शुद्ध सुंदरता पर बहुत ही ज्यादा घमंड था।

आप गर्मी का मौसम आज चला था और बगीचों के बीच एक कुआं था। जो पूरी तरह से सूख चुका था। आप सभी पौधों को पानी देने के लिए बिल्कुल ही पानी नहीं था। अब गुलाब धीरे धीरे मुरझाने लगा। तभी उसने ध्यान से देखा कि एक छोटी सी चिड़िया उस कैक्टस में अपना सोच लगाकर के पानी पी रही थी। लेकिन गुलाब बहुत ही ज्यादा शर्मिंदा था।

फिर गुलाब ने उसके पास कैक्टस से थोड़ा पानी के लिए पूछा। वह कैक्टस थोड़ा दयालु किस्मत था इसलिए तुरंत राजी हो गया। और फिर दोनों ने एक दूसरे से दोस्ती किया और इस गर्मी की मौसम को बहुत ही आसानी से झेल लिया।

शिक्षा :– इस छोटी कहानी इन हिंदी से हमें यह शिक्षा मिलती है कि हमें किसी भी आदमी को उसके रंगा और रूप के आधार पर उसे स्वभाव का मजाक नहीं उड़ाना चाहिए।

भालू और दो दोस्त Moral Story In Hindi


एक दिन की बात है सुरेश और श्याम नाम के दो बहुत ही घनिष्ठ मित्र थे एक दिन उन्होंने यात्रा पर निकले थे लेकिन समस्या यह थी कि रास्ते में एक बहुत ही घना जंगल था और अब धीरे-धीरे शाम भी ढल चुकी थी। और अब उन्हें डर लगने लगा । तभी अचानक उनके सामने से एक भालू आ रहा था।

छोटी कहानी इन हिंदी – रोचक कहानी इन हिंदी – Top 25+ Best Desi Kahani in Hindi
भालू और दो दोस्त Moral Story In Hindi

तभी एक दोस्त ने तुरंत पास वाले पेड़ पर फटाफट चढ़ गया। लेकिन उसके मित्र को पेड़ पर चढ़ना नहीं आता था। इसलिए वह मृत होने का नाटक करके वही जमीन पर लेट गया। अब भालू उस जमीन पर लेटे लड़की के पास गया और उसके सिर के चारों तरफ सूंघने लगा।

भालू उस लड़के के कान में थोड़ा हवा भरा। लेकिन उसे मृत समझकर के वहां से चला गया। तभी उसके दोस्त ने तुरंत झट से पेड़ से उतरा और अपने दोस्तों से पूछा कि तुम्हें भालू ने कान में क्या कहा ? वह लड़का ने बड़ी ही चालाकी से जवाब दिया कि तुम उन दोस्तों पर कभी विश्वास ना करना जो तुम्हें कोई परवाह नहीं करता हो।

शिक्षा :– इस छोटी कहानी इन हिंदी से हमें यह शिक्षा मिलती है कि हमारा सच्चा मित्र वही होता है जो मुसीबत के समय काम आए।

दोस्तों ” आपको यह छोटी सी कहानी इन हिंदी कैसी लगी। आप हमें कमेंट के द्वारा जरूर बताएं। बच्चों के लिए शिक्षाप्रद कहानी अगर आपको अच्छी लगी है तो आप इसे लाइक करें और शेयर करें। और ऐसे ही बहुत ही प्यारी प्यारी कहानियां पढ़ने के लिए नीचे दिए हुए लाल कलर के बटन को दबाए सब्सक्राइब करें।

Moral Story In HindiMoral StorMoral Story In Hindiy In HindiMoral Story In HindiMoral Story In HindiMoral Story In HindiMoral Story In HindiMoral Story In HindiMoral Story In HindiMoral Story In HindiMoral Story In HindiMoral Story In HindiMoral Story In HindiMoral Story In HindiMoral Story In HindiMoral Story In HindiMoral Story In HindiMoral Story In HindiMoral Story In HindiMoral Story In HindiMoral Story In HindiMoral Story In HindiMoral Story In HindiMoral Story In HindiMoral Story In HindiMoral Story In HindiMoral Story In HindiMoral Story In HindiMoral Story In HindiMoral Story In Hindi

Moral Story In Hindi


धन्यवाद,,,,,

Related Post

Leave a Reply