Best Bacchon Ki Kahani – 5 सबसे अच्छी बच्चों की कहानियां हिंदी में

बच्चे बहुत ही ज्यादा नटखट होते हैं।Bacchon Ki Kahani को सुना करके उन सभी को कहानी के माध्यम से शिक्षा दिया जाता है बच्चों को कहानी के माध्यम से शिक्षा बहुत ही अच्छी लगती है।

बच्चे अक्सर चंचल होते हैं और उन्हें काबू में करना हर माता-पिता का एक सपना होता है इसलिए वे Bacchon Ki Kahani सुना करके उन्हें शांत और अच्छी शिक्षा देने की कोशिश करते हैं यह कहानी बच्चों तथा बड़े दोनों लोगों के लिए हैं।

Bacchon Ki Kahani

गिलहरी की कोशिश सफल हुआ

एक समय की बात है, एक छोटे से गांव में एक बड़े से वृक्ष के नीचे एक गिलहरी बसे थी। वह गिलहरी अपने छोटे से घर में बड़े खुशी-खुशी जी रही थी। उसकी दिनभर की कामना बस यह थी कि वह एक बार दुनिया के सबसे ऊँचे पेड़ पर जा सके और उसका नजारा देख सके।

Bacchon Ki Kahani
गिलहरी की कोशिश सफल हुआ

एक दिन, जब आसमान में बड़ी गरजट चल रही थी, वह गिलहरी ने तय किया कि वह उस ऊँचे पेड़ तक पहुँचने का प्रयास करेगी। उसने अपनी सारी शक्ति और मेहनत लगाई और धीरे-धीरे पेड़ की ओर बढ़ने लगी।

रास्ते में उसने कई मुश्किलों का सामना किया, लेकिन उसने हार नहीं मानी और आगे बढ़ते रही। धीरे-धीरे, उसकी मेहनत और संघर्ष ने उसे विशाल पेड़ के ऊपर ले जाने में सफलता दिलाई।

Bacchon Ki Kahani

जब वह पेड़ की ऊँचाइयों तक पहुँची, तो उसने देखा कि वह जगह से कई बार ऊँचा है, लेकिन उसके पास कोई तरीका नहीं है जिससे वह नीचे जा सके। उसके बचाव के लिए कोई विकल्प नहीं था और वह उदास हो गई।

Bacchon Ki Kahani

इस समय एक आवाज़ आई, “क्यों उदास हो रही हो, गिलहरी?” गिलहरी ने उच्च स्थान से आवाज़ सुनी और देखा कि एक चिड़ीया वहाँ बैठी थी। चिड़ीया ने कहा, “तुमने बड़ी मेहनत की है और उस पेड़ की ऊँचाइयों तक पहुँचने में सफलता पाई है, लेकिन अब तुम्हारा अगला कदम क्या होगा?”

Bacchon Ki Kahani

गिलहरी ने सोचा और फिर चिड़ीया की सलाह मानकर धीरे-धीरे नीचे उतरने लगी। जब वह पूरी तरह से नीचे पहुँची, तो उसने अपनी मेहनत की महत्वपूर्णता समझी और उसका संघर्ष उसे सफलता तक पहुँचाने में मदद करने वाला तत्व समझा।

Bacchon Ki Kahani

इस कहानी से हमें यह सिख मिलता है कि मेहनत, संघर्ष और सही मार्ग का चयन करने से हम किसी भी मुश्किल से पार पा सकते हैं। जीवन में सफलता पाने के लिए हमें कभी भी हार नहीं माननी चाहिए और आगे बढ़ते रहने का प्रयास करना चाहिए।

रिया फल तोड़ने में कामयाब हुए 

एक समय की बात है, एक गांव में एक बड़ा सरकंडी पेड़ खड़ा था। उस पेड़ पर कई प्रकार की मिठासी फलें लगती थीं, जैसे कि आम, अमरूद, सेब, आदि। परंतु उस पेड़ की एक खासियत थी – वह फलों को अपने ब्रांचों पर इतनी ऊँचाइयों पर लगाता था कि उन्हें आम लोगों के लिए तकलीफदेह साबित होता था।

Bacchon Ki Kahani
रिया की सफलता की कहानी

गांव के लोग बड़े प्यार से उस पेड़ की देखभाल करते थे, परंतु उन्हें उसके फलों तक पहुँचने में काफी मुश्किल होती थी। वे ऊँचे पेड़ के ताक पर जाने के लिए लड़कों को बुलाते, परंतु तकलीफदेह ताक पर चढ़ने के बाद भी वे फल तक पहुँच नहीं पाते थे।

Bacchon Ki Kahani

एक दिन, गांव में एक नन्ही बच्ची आई, जिसका नाम रिया था। उसने देखा कि लोग ताक पर चढ़ने का प्रयास कर रहे हैं, परंतु वे सफल नहीं हो रहे हैं। उसने अपने मन में तय किया कि वह इस मुश्किल का समाधान निकालेगी।

Bacchon Ki Kahani

रिया ने अपने दोस्तों से मदद मांगी और साथ मिलकर एक योजना बनाया। वे एक बड़े झूले की मदद से उस पेड़ के पास पहुँचे और फलों को तोड़ने लगे। फलों को उतराने के बाद, वे उन्हें गांव के लोगों के बीच बांटने लगे।

लोग बड़े ही खुश और आश्चर्यचकित हो गए कि रिया ने इस मुश्किल का समाधान निकाला है। वे फलों का आनंद उठाने लगे और उनकी मेहनत का मोल जान गए।

Bacchon Ki Kahani

इस कहानी से हमें यह सिखने को मिलता है कि समस्याओं का समाधान खोजने के लिए हमें नये और उत्कृष्ट तरीकों की ओर सोचना चाहिए। हमारी सोच और साहस ही हमें समस्याओं के समाधान तक पहुँचा सकते हैं, चाहे वो कितनी भी मुश्किल क्यों ना हो।

आर्यन ने नदी का पानी साफ किया 

एक गांव में एक बड़ी समस्या उत्पन्न हो गई। गांव के पास एक नदी बहती थी और उस नदी का पानी पिने के लिए सुरक्षित नहीं था। लोग नदी के पानी में बैक्टीरिया और कीटाणुओं की वजह से बीमार हो रहे थे। बच्चे-बूढ़े, सभी को नदी के पानी से खतरा हो रहा था।

Bacchon Ki Kahani
आर्यन ने नदी का पानी साफ किया

गांव के नेता और व्यक्तिगत योजना बनाने वाले लोग समस्या का समाधान ढूंढने में असमर्थ थे। उन्होंने कई प्रयास किए, परंतु समस्या का समाधान नहीं प्राप्त कर पा रहे थे।

इस समय एक छोटे से लड़के का नाम आर्यन था। वह एक दिन नदी के किनारे खेल रहा था, तभी उसने देखा कि कुछ पक्षियों ने नदी के पानी में खेलते हुए दिखाई दिया। उसने देखा कि वे पक्षी बिना किसी खतरे के पानी में खेल रहे थे।

Bacchon Ki Kahani

इसे देखकर आर्यन ने एक विचार सोचा। उसने नदी के पानी को उबालकर उसका पानी साफ करने की कोशिश की। उसने कई दिनों तक मेहनत की और अंत में उसने नदी के पानी को साफ कर दिया।

जब गांव के लोगों ने आर्यन के प्रयासों को देखा, तो उन्होंने भी मिलकर उसके साथ काम किया। उन्होंने समय-समय पर नदी का पानी साफ करने का काम किया और उनके संघर्ष से नदी का पानी पिने के लायक हो गया।

Bacchon Ki Kahani

इस तरीके से आर्यन ने अपने छोटे से प्रयास से गांव की समस्या का समाधान निकाला। उसने दिखाया कि छोटे से भी महत्वपूर्ण प्रयास से हम महत्वपूर्ण समस्याओं का समाधान निकाल सकते हैं।

यह कहानी हमें यह सिखाती है कि समस्याओं के समाधान के लिए हमें नये और सोची समझी तरीकों की ओर देखना चाहिए। हमारे पास छोटे-छोटे प्रयास हो सकते हैं, परंतु उनका महत्व असीम होता है।

खरगोश और फुल

एक बार की बात है, एक छोटे से गांव में एक बड़ी जमीन पर एक सुंदर बगीचा था। उस बगीचे में रंग-बिरंगे फूल खिल रहे थे और पेड़-पौधों की मिठास छाई थी। यह बगीचा गांव के लोगों के लिए एक आकर्षण स्तल बन गया था।

Bacchon Ki Kahani
खरगोश और फुल

बगीचे के एक कोने में एक छोटे से पेड़ के नीचे एक छोटी सी खरगोश रहता था। वह खरगोश बगीचे के सभी फूलों की खूबसूरती का आनंद लेता था और उनके साथ समय बिताता था। परंतु उसकी दिलचस्पी एक खास फूल में ही ज्यादा थी, जिसका नाम लिली था।

लिली एक बड़ा सुंदर फूल था, जिसकी सुगंध बगीचे में महक रही थी। खरगोश रोज़ाना लिली के पास जाता और उसके साथ समय बिताता। लेकिन एक दिन खरगोश को अचानक ख्याल आया कि वह लिली के बिना भी खुश रह सकता है।

Bacchon Ki Kahani

उसने खुद से आत्म-निर्णय किया कि वह लिली के बिना भी खुश रह सकता है और उसने लिली से मिलकर उसके साथ बिताए गए समय की जानकारी दी। लिली थोड़ी हैरान हुई, परंतु खुशी से भर गई क्योंकि उसे खरगोश के आत्म-निर्णय का सामर्थ्य दिख गया।

यह हुआ एक महत्वपूर्ण परिवर्तन – खरगोश ने समझ लिया कि उसकी खुशियाँ सिर्फ एक फूल के आधार पर नहीं टिकी हैं। उसने देखा कि बगीचे में और भी कई चीजें हैं जो उसे खुश रख सकती हैं।

Bacchon Ki Kahani

इस कहानी से हमें यह सिखने को मिलता है कि हमें खुद के आस-पास की खुशियों का मोल लेना चाहिए, और एक ही चीज़ पर अपनी पूरी खुशियाँ नहीं टिकानी चाहिए। हमें अपने आस-पास के साथी, परिस्थितियों और चीजों की महत्वपूर्णता को समझना चाहिए, जो हमें खुश रख सकते हैं।

अगर यह Bacchon Ki Kahani आपको पसंद आती है तो आप कमेंट करके जरूर बताएं कि कहानी की कौन सा पाठ आपको सबसे अच्छी लगी और भी कहानी हमारे वेबसाइट पर उपस्थित है जिसे आप पढ़ करके शिक्षा के प्राप्त कर सकते हैं।

Related Post

Leave a Reply