Badi Diwali Kab Hai 2023: बड़ी दिवाली कब हैं? 12 या 13 नवंबर जानें सटीक शुभ मुहूर्त

2023 Diwali Kab Hai

Badi Diwali Kab Hai 2023: बड़ी दिवाली कब हैं? 12 या 13 नवंबर जानें सटीक शुभ मुहूर्त :इस साल पूरे देश में दीपावली 12 नवंबर 2023, रविवार को मनाई जाएगी। इस गणेश लक्ष्मी पूजा के शुभ मुहूर्त शाम 6:11 बजे से रात 8:15 तक रहेगा इस साल अमावस्या तिथि 12 नवंबर को दोपहर 2:44 से सुबह आरंभ हो जाएगा और 13 नवंबर 2023 को दोपहर 2:56 पर यह पूरी तरह से समाप्त हो जाएगी।

Badi Diwali Kab Hai

यह दिवाली भारत के हर राज्य में विभिन्न प्रकार की समय पर लागू हो रहा है। कहीं पर दिवाली 5:40 से लेकर 7:36 तक रहेगा वही लक्ष्मी पूजा के लिए महानिसिद्ध काल मुहूर्त 11:39 से मत दे रात्रि 12:31 तक रहेगा।

पंचांग के अनुसार इस साल 10 नवंबर के दिन धनतेरस मनाया जाएगा, इसके बाद 11 नवंबर के दिन नरक चतुर्दशी है। इसी दिन को छोटी दिवाली भी कहते हैं। दिवाली या बड़ी दिवाली मुख्ता 12 नवंबर के दिन मनाया जाएगा।

Badi Diwali Kab Hai For Details

धनतेरस (Dhanteras)10 नवंबर 2023शुक्रवार
छोटी दिवाली (Chhoti Diwali)11 नवंबर 2023शनिवार
दिवाली (Diwali)12 नवंबर 2023रविवार
गोवर्धन पूजा (govardhan Puja)13 नवंबर 2023सोमवार
भाई दूज (Bhai Dooj)14 नवंबर 2023मंगलवार

Dipawali Kab Hai

इस Badi Diwali Kab Hai  में पूरे देश भर में Dipawali Kitne Tarikh Ka Hai  – 12 नवंबर 2023  में मनाई जाएगी। लक्ष्मी पूजा मुहूर्त – शाम 06.11 बजे से लेकर रात को 8.15 बजे तक रहेगा।

Badi Diwali Kab Hai

अमावस्या तिथि 12 नवंबर को दोपहर 02 बजकर 44 मिनट से प्रारंभ होगी । और 13 नवंबर को दोपहर 02 बजकर 56 मिनट पर समाप्ति हो जायेगी। यह पूजा 10 नवंबर धनतेरस से शुरु होकर 15 नवंबर भाई दूज पर समाप्त होगा।

और जानने के लिए क्लिक करें 

Dipawali Ka Nibandh (Badi Diwali Kab Hai)

दोस्तों हमें यह पता है कि हिंदू धर्म के सबसे महत्वपूर्ण पर्व में से दिवाली एक सबसे उत्तम परवाह है जिसे भारत के कोने कोने में दिवालिया मनाई जाती है इसमें बहुत सारे लोग अपने घर को सजाते हैं।

दिवाली के दिन बहुत सारे लोग नए नए कपड़े पहनते हैं बहुत सारे लोग मांगे मांगे चीजें खरीदते हैं इसमें धनतेरस के दिन शुभ मुहूर्त पर लोक सामान को खरीदते हैं और सही समय पर संध्याकाल में मां लक्ष्मी तथा श्री गणेश और सरस्वती और भी बहुत देवताओं की पूजा अर्चना करते हैं। जब अपने वनवास काल के 14 वर्ष पूरा करने के बाद अपने राज्य अयोध्या लौटे थे।

Badi Diwali Kab Hai

तब अयोध्या में रहने वाले सभी नगर वासियों ने भगवान रामचंद्र की आने की खुशी में पूरे नगर को दीपक से सजा दिया था और उस दिन पूरी अयोध्या में रात दिन की तरह महसूस हो रहे थे। और जब आए श्री रामचंद्र जी और माता सीता तथा लक्ष्मण का स्वागत बहुत ही धूमधाम से दीपक से स्वागत किया गया।

इसी आस्था को देखते हुए हम आज हर साल दीपावली के रूप में इस पर्व को मनाते हैं। और यह त्यौहार आप केवल भारत में ही नहीं बल्कि पूरी दुनिया में भी मनाई जाती है।

Dipawali Happy Diwali(Badi Diwali Kab Hai)

भारतीय लोग की सबसे पसंदीदा पर्व दीवाली है और यह अमावस्या तिथि 12 नवंबर को दोपहर 02 बजकर 44 मिनट से प्रारंभ होगी । और 13 नवंबर को दोपहर 02 बजकर 56 मिनट पर समाप्ति हो जायेगी। यह पूजा 10 नवंबर धनतेरस से शुरु होकर 15 नवंबर भाई दूज पर समाप्त होगा।

Free Ai Generated Family illustration and picture

दिवाली हिंदू धर्म के सबसे प्रमुख और सबसे बड़ा त्योहार में से एक है। और यह सभी राज्य में बड़ी ही धूम धाम से मनाया जाता हैं और सभी जगह पूजा के समय अलग होते हैं और हमारे राजस्थान में इस बार 2023 में 12 नवंबर रविवार को मनाया जाएगा।

Diwali 2023 Date Mumbai(Badi Diwali Kab Hai)

दिवाली हिंदू धर्म के सबसे प्रमुख और सबसे बड़ा त्योहार में से एक है। और यह सभी राज्य में बड़ी ही धूम धाम से मनाया जाता हैं और सभी जगह पूजा के समय अलग होते हैं और हमारे राजस्थान में इस बार 2023 में 12 नवंबर रविवार को मनाया जाएगा।

Related Post

Leave a Reply