2023 Mein Diwali kab Hai

2023 Mein Diwali kab Hai:12 या 13 नवंबर जानें सटीक शुभ मुहूर्त: इस 2023 Mein Diwali kab Hai मैं बहुत सारे लोग अपने अपने घरों को पेंट कर आते हैं अपने घरों को बहुत ही अच्छे से सजाते हैं और साथ ही बहुत सारे लोग अपने दरवाजे पर दीपावली के दिन रंगोलियां बनाते हैं भारत की संस्कृति में अलग-अलग प्रकार की रंगोलियां बनाई जाती है।

2023 Mein Diwali kab Hai

दोस्तों हमें यह सब पता है कि दिवाली हिंदू धर्म के 1 सबसे प्रमुख पर्व में से एक है और इसे यूपी और बिहार में बहुत ही अच्छे से मनाया जाता है सभी राज्यों में अलग-अलग समय पर दिवाली मनाई जाती है।

छोटी दिवाली दिवाली से एक दिन पहले मनाई जाती है। और इसे हम यह भी कर सकते हैं कि धनतेरस के एक दिन बाद जो दिवाली मनाई जाती है उसे हम छोटी दिवाली कहते हैं। और छोटी दिवाली 11 नवंबर 2023 को मनाया जाता हैं।

2023 Mein Diwali kab Hai

दिवाली हिंदू धर्म के सबसे प्रमुख और सबसे बड़ा त्योहार में से एक है। और यह सभी राज्य में बड़ी ही धूम धाम से मनाया जाता हैं और सभी जगह पूजा के समय अलग होते हैं और हमारे राजस्थान में इस बार 2023 में 12 नवंबर रविवार को मनाया जाएगा।

2023 Mein Diwali kab Hai
  • लक्ष्मी पूजा का शुभ मुहूर्त – शाम 6 बजकर 10 मिनट से 8 बजाकर 06 मिनट तक।
  • पूजन की अवधि – 1 घंटे 55 मिनट ,केवल
  • प्रदोष काल – 17:34 से 20:10 तक
  • वृषभ काल – 18:10 – से 20 :06 तक ।

हिंदू पंचांग के अनुसार कार्तिक मास के कृष्ण पक्ष के चतुर्थी तिथि को छोटी दिवाली मनाई जाती है। और छोटी दिवाली के दिन भी दीपक जलाई जाती है लेकिन कम संख्या में चलाई जाती है। और बहुत जगह इसे यम दीपावली भी कहा जाता है। और इसमें यम देवता की पूजा करना एक अत्यंत ही मंगलकारी माना जाता है।

अब हम आपको एक छोटी दिवाली की परंपरा के बारे में बताते हैं हमने देखा होगा कि घर के पीछे एक दीपक जलाई जाती है। यम दिवाली जिसे हम छोटी दिवाली भी कहते हैं। के दिन अपने घर के पीछे एक दीपक जलाना बहुत जगह की परंपरा है और बहुत जगह यह सब किया भी जाता है।

देव दिवाली मुख्यता बनारसी और उत्तर प्रदेश से मनाई जाने वाली एक महत्वपूर्ण त्योहारों में से एक है। हमारी मान्यता के अनुसार कहा जाता है कि इस तिथि को भगवान शिव जी ने एक राक्षस त्रिपुरासुर का वध करके देवताओं के इस राक्षस के आतंक से तथा भय से मुक्त किया था।

इसी बिजाई की खुशी में, देवलोक से सभी देवी और देवगन हमारी पवित्र नगरी वाराणसी में मनाने के लिए इसी दिन पधार ते हैं।

दोस्तों हमें यह सब पता है कि दिवाली हिंदू धर्म के 1 सबसे प्रमुख पर्व में से एक है और इसे यूपी और बिहार में बहुत ही अच्छे से मनाया जाता है सभी राज्यों में अलग-अलग समय पर दिवाली मनाई जाती है।

दिवाली के दिन बहुत सारे लोगों का सवाल होता है कि हमारे उत्तर प्रदेश में दिवाली की टाइम क्या है तो मैं आप लोग इसमें बता देना चाहता हूं कि यूपी और बिहार में अभी दिवाली का टाइम है। संध्याकाल 5:00 से 40 मिनट से लेकर 7 बज कर 36 मिनट पर पूजा करने की एक बहुत ही उत्तम मुहूर्त है।

Choti Diwali 2023

यह सब हमें पता ही होगा कि छोटी दिवाली दिवाली से एक दिन पहले मनाई जाती है। और इसे हम यह भी कर सकते हैं कि धनतेरस के एक दिन बाद जो दिवाली मनाई जाती है उसे हम छोटी दिवाली कहते हैं।

2023 Mein Diwali kab Hai

हिंदू पंचांग के अनुसार कार्तिक मास के कृष्ण पक्ष के चतुर्थी तिथि को छोटी दिवाली मनाई जाती है। और छोटी दिवाली के दिन भी दीपक जलाई जाती है लेकिन कम संख्या में चलाई जाती है। और बहुत जगह इसे यम दीपावली भी कहा जाता है। और इसमें यम देवता की पूजा करना एक अत्यंत ही मंगलकारी माना जाता है।

अब हम आपको एक छोटी दिवाली की परंपरा के बारे में बताते हैं हमने देखा होगा कि घर के पीछे एक दीपक जलाई जाती है। यम दिवाली जिसे हम छोटी दिवाली भी कहते हैं। के दिन अपने घर के पीछे एक दीपक जलाना बहुत जगह की परंपरा है और बहुत जगह यह सब किया भी जाता है।2023 Mein Diwali kab Hai

Rangoli For Diwali 2023

2023 Mein Diwali kab Hai के इस त्योहार में लोग, रंग, चावल के पाउडर, और फूलों के पंखुड़ियों के जरिए, रंगोली बनाते हैं । कुछ लोग तो रंगोली में स्वस्तिक, कमल की फूल, या फिर वे लक्ष्मी जी के पद चिन्ह बनाते हैं।

2023 Mein Diwali kab Hai

अगर आप दीपक वाली रंगोली बनाना चाहते हैं तो आपको एक सबसे अच्छा तरीका निकाला है उससे आप आसानी से बना सकते हैं।

सबसे पहले आपको चौक की सहायता से जहां आप अपना रंगोली बनाना चाहते हों वहा पर खींच लीजिए। और फ़िर छोटे छोटे फूल बना ले।या फिर एक बड़ा सा सर्किल बनाके उसमे दीपक को बना लीजिए। और फिर आप अपने पसन्द की रंगो से सजा लीजिए।2023 Mein Diwali kab Hai

दीपावाली के दिन मां लक्ष्मी का पूजन प्रदोष काल में करना अति उत्तम माना गया है। 2023 में दिवाली 12 नवंबर को मनाना चाहिए। और 13 नवंबर को यह प्रदोष काल समाप्त होगा।2023 Mein Diwali kab Hai

Leave a Reply